ताज़ा खबर
 

न्यूजीलैंड के खिलाफ 58 पर ढेर हुआ इंग्लैंड, टेलेंडर ने बचाया, वरना बन जाता सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड

क्रैग ओवरटन ने अपनी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए 33 रन बनाए। न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट ने सात ओवरों में 32 रन देकर छह विकेट लिए। बोल्ट के अलावा टिम साउदी ने 25 रन देकर चार विकेट झटके।

ट्रेंट बोल्ट ने सात ओवरों में 32 रन देकर छह विकेट लिए। (Photo Source: AP)

ऑकलैंड में न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच खेले गए पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में न्यूजीलैंड के खिलाड़ी ट्रेंट बोल्ट ने काफी शानदार प्रदर्शन करके दिखाया। बोल्ट ने इंग्लैंड के छह विकेट झटके, जिसके कारण मेहमान टीम के दिग्गज बल्लेबाज अच्छा स्कोर नहीं खड़ा कर पाए। इंग्लैंड न्यूजीलैंड के खिलाफ केवल 58 रन ही बना पाया, लेकिन इंग्लैंड के पुच्छल बल्लेबाज क्रैग ओवरटन अच्छी बल्लेबाजी न करते तो इंग्लैंड के खाते में एक शर्मनाक रिकॉर्ड शामिल हो सकता था। इंग्लैंड जब बल्लेबाजी कर रहा था तो  8 विकेट खोकर केवल 23 रन ही बन पाए थे।

बता दें कि टेस्ट क्रिकेट में अब तक का सबसे खराब स्कोर 26 रहा है। अगर आखिरी समय पर गेंदबाज क्रैग ओवरटन ने अपनी बल्लेबाजी का हुनर नहीं दिखाया होता तो टेस्ट क्रिकेट में सबसे खराब स्कोर बनाने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के नाम हो जाता। क्रैग ओवरटन ने अपनी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए 33 रन बनाए। वहीं, न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट ने सात ओवरों में 32 रन देकर छह विकेट लिए। बोल्ट के अलावा टिम साउदी ने 25 रन देकर चार विकेट झटके।

न्यूजीलैंड के गेंदबाजों के लिए पिच काफी असरदार रही, लेकिन बल्लेबाजी के दौरान उनका प्रदर्शन थोड़ा फीका दिखाई दिया। डिनर से पहले तक न्यूजीलैंड ने एक विकेट के नुकसान पर 88 रन बनाए। कैन विलियमसन ने न्यूजीलैंड के लिए नाबाद 59 रनों की पारी खेली। इंग्लैंड की अब तक की टेस्ट पारियों के सबसे कम स्कोर की बात की जाए तो उसका सबसे खराब स्कोर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रहा है। जनवरी, 1887 में सिडनी में खेले गए टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ केवल 45 रन बनाए थे। इसके अलावा 1994 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ उन्होंने 46 रन बनाए थे। वैसे टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम स्कोर की बात करें तो यह रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के नाम दर्ज है। साल 1955 में न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड के खिलाफ मात्र 26 रन बनाए थे। वहीं, इस सूची में दूसरा स्थान साउथ अफ्रीका का है, जिसने 1896 में इंग्लैंड के खिलाफ 30 रन बनाए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App