ताज़ा खबर
 

‘अगर पिच खराब है तो हम बोलेंगे इसमें डरना कैसा, पुणे की पिच वैसी नहीं थी जैसी आम तौर पर मिलती है’

टीम इंडिया के डायरेक्टर रवि शास्त्री ने आज यहां दो टूक कहा कि अगर पिच ज्यादा खराब है तो इसके बारे में बोलने से क्या डरना। उन्होंने कहा कि रांची के मैदान की भी आउटफील्ड बिलकुल सूखी है और इस पर काफी बालू नजर आ रही है।

टीम इंडिया के डायरेक्टर रवि शास्त्री

टीम इंडिया के डायरेक्टर रवि शास्त्री ने आज यहां दो टूक कहा कि अगर पिच ज्यादा खराब है तो इसके बारे में बोलने से क्या डरना। उन्होंने कहा कि रांची के मैदान की भी आउटफील्ड बिलकुल सूखी है और इस पर काफी बालू नजर आ रही है।

श्रीलंका के खिलाफ कल यहां होने वाले टी20 के दूसरे मुकाबले से पूर्व आज यहां झारखंड राज्य क्रिकेट संघ (जेएससीए) के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में शास्त्री ने यह बात कही।

शास्त्री से जब पूछा गया कि पुणे में पहले मैच में श्रीलंका के हाथों हुई बुरी हार के बाद कप्तान ने पिच की बुराई की, क्या आप उसे उचित मानते हैं, उन्होंने कहा, ‘‘अगर पिच ज्यादा खराब है तो हम बोलेंगे। बोलने में डरना क्या? ’’ पुणे की पिच के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘साफ बात है, वहां की पिच ने कुछ ज्यादा ही किया। लेकिन पिच की आलोचना के पीछे हम अपनी असफलता नहीं छिपा सकते।’’

उन्होंने कहा कि हमने पुणे के मैच से भी बहुत कुछ सीखा है लेकिन वहां की असफलता के पीछे एक बड़ा कारण था, कि हमें ऑस्ट्रेलिया से लौटने के बाद अपने को माहौल और वातावरण के लिए ढालने का समय नहीं मिला। लेकिन पुणे की पिच वैसी नहीं थी जैसी आम तौर पर भारत में मिलती है।

शास्त्री ने कहा, ‘‘पुणे में पिच गेंदबाजों के लिए उछाल भरी थी और भयानक थी। वहां खेलना आसान नहीं था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब आप ऑस्ट्रेलिया के लय से आते हो, आप देख सकते हैं कि बल्लेबाजों ने गलतियां कीं। लेकिन यह कोई बहाना नहीं है। आप को तत्काल माहौल के अनुसार ढलना ही होगा।’’

शास्त्री ने कहा कि रांची के क्रिकेट मैदान को देखने से लगता है कि इसे ज्यादा पानी नहीं मिला है लेकिन यह कल के मैच में कैसा व्यवहार करेगी, यह खेलने पर ही पता चलेगा. उन्होंने भारतीय टीम के खिलाड़ियों को भी ताकीद की कि उन्हें खेल के अनुरूप ढलना होगा क्योंकि पिच पर कुछ असामान्य उछाल मिल सकता है।

झारखंड राज्य क्रिकेट स्टेडियम के अध्यक्ष अमिताभ चौधरी ने मैदान की आउटफील्ड अधिक सूखी होने के बारे में पूछे गये सवाल पर कहा, ‘‘हमें मैच के आयोजन के लिए पर्याप्त समय नहीं मिला जिसके चलते कुछ कमी हो सकती है।’’ उन्होंने दावा किया कि दिये गये समय में मैच के लिए सर्वोत्तम तैयारी की गयी है। पहले यह मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में होना था लेकिन वहां के आयोजकों को मैच के आयोजन में तकनीकी परेशानी पेश आने की वजह से इसे आनन फानन में रांची स्थानांतरित किया गया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App