ताज़ा खबर
 

ISSF World Cup: 20 साल की इलावेनिल ने भारत को दिलाया गोल्ड, अपने पहले ही विश्व कप में बनीं चैंपियन

इलावेनिल का जन्म 2 अगस्त 1999 को तमिलनाडु के कुड्डालोर में हुआ था। उन्होंने पिछले साल जूनियर शूटिंग वर्ल्ड कप में भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। इस साल वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में वे रजत पदक जीतने में सफल रही थीं।

इलावेनिल वालारिवान शूटिंग वर्ल्ड कप के इस इवेंट में गोल्ड मेडल जीतने वाली तीसरी भारतीय महिला हैं। उनसे पहले अपूर्वी चंदेला और अजंलि भागवत यह उपलब्धि अपने नाम कर चुकी हैं।

ISSF World Cup: रियो डी जेनेरो में चल रहे वर्ल्ड कप में महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल के फाइनल में भारत की 20 साल की इलावेनिल वालारिवान ने ब्रिटेन की सियोना मैकिंटोश को हराकर गोल्ड जीता। सीनियर वर्ल्ड कप में वालारिवान का ये पहला मेडल है। 10 मीटर एयर रायफल कैटेगरी में फाइनल में वालारिवान का स्कोर 251.7 रहा। इस इवेंट में भारत की एक अन्य शूटर अंजुम मौदगिल पदक हासिल करने में नाकाम रहीं। अंजुम मौदगिल 166.8 अंक के साथ छठे नंबर पर रहीं। उनसे पहले अपूर्वी चंदेला फाइनल के लिए क्वालीफाई करने से बेहद मामूली अंतर से चूक गईं थीं। अपूर्वी क्वालिफाइंग राउंड 11वें नंबर पर रही थीं। यदि वे 8वें नंबर पर होतीं तो उन्हें फाइनल राउंड खेलने का मौका मिलता। इलावेनिल वालारिवान शूटिंग वर्ल्ड कप के इस इवेंट में गोल्ड मेडल जीतने वाली तीसरी भारतीय महिला हैं। उनसे पहले अपूर्वी चंदेला और अजंलि भागवत यह उपलब्धि अपने नाम कर चुकी हैं।

इलावेनिल का जन्म 2 अगस्त 1999 को तमिलनाडु के कुड्डालोर में हुआ था। उन्होंने पिछले साल जूनियर शूटिंग वर्ल्ड कप में भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। इस साल वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में वे रजत पदक जीतने में सफल रही थीं। इसी साल म्यूनिख में हुए शूटिंग वर्ल्ड कप में वे चौथे नंबर पर रही थीं। भारत ने इस साल महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में चार विश्व कप स्वर्ण पदकों में तीन अपने नाम किये हैं। इलावेनिल एशियाई चैम्पियन के अलावा जूनियर विश्व कप की स्वर्ण पदकधारी हैं।

चीनी ताइपे की यिंग शिन लिन ने कांस्य पदक जीतने के अलावा टोक्यो 2020 ओलंपिक के दो कोटा स्थान में से एक हासिल किया। दूसरा कोटा ईरान ने हासिल किया। भारत पहले ही इस स्पर्धा में कोटा सुनिश्चित कर चुका है। गुजरात की इलावेनिल ने क्वालीफिकेशन में अपनी सीनियर अंजुम को पछाड़ दिया था। उन्होंने 629.4 अंक जुटाये जबकि अंजुम ने 629.1 अंक बनाये थे जिससे दोनों क्रमश: चौथे और पांचवें स्थान पर रहीं।

दुनिया की नंबर एक निशानेबाज अपूर्वी फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकीं। वह 627.7 अंकों के साथ 11वें स्थान पर रहीं। भारत का दबदबा इतना था कि मेहुली घोष ने प्रतिस्पर्धा से इतर न्यूनतम क्वालीफिकेशन स्कोर (एमक्यूएस) वर्ग में 629.1 अंक का स्कोर बनाया जो उन्हें फाइनल में स्थान दिला सकता था।  अंजुम पहले पांच शाट के बाद आगे चल रही थीं, लेकिन दूसरी सीरीज के खराब होने से वह नीचे खिसक गयी और 12वें शाट तक पांचवें स्थान पर पहुंच गयीं।

लेकिन इलावेनिल शानदार प्रदर्शन करते हुए सियोनाद से आगे निकल गयीं। अमेरिका की मैरी टकर सबसे पहले बाहर हुईं।  इलावेनिल ने 24 शाट के फाइनल में चार शाट से पहले 1.4 अंक की बढ़त बनायी हुई थी। सियोनाद और इलावेनिल के बीच अंत तक मुकाबला चला लेकिन भारतीय निशानेबाज पहला स्थान हासिल करने में सफल रहीं।

महिलाओं की 25 मीटर पिस्टल में अनुराज सिंह ने भारतीय टीम में वापसी करते हुए प्रीसिशन चरण में 292 का मजबूत स्कोर बनाया जिससे वह 12वें स्थान पर पहुंची। रैपिड फायर राउंड गुरूवार को होगा।  हमवतन चिंकी यादव 290 अंक से 17वें जबकि अभिदन्या अशोक पाटिल 286 से 43वें स्थान पर हैं।
पुरूषों की 50 मीटर राइफल थ्री पाजीशन स्पर्धा में पहले एलिमिनेशन दौर में क्वालीफिकेशन विश्व रिकार्ड रहा जिसमें आस्ट्रिया के जान लोचबिहलर ने 1188 अंक जुटाये।  भारत के संजीव राजपूत ने पहले एलिमिनेशन दौर में 1170 अंक से 14वें स्थान हासिल किया। वह फाइनल में जगह बनाने के लिये गुरूवार को क्वालीफाइंग दौर में खेलेंगे।

भाषा के इनपुट के साथ।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 IND vs Wi, 2nd Test: जीत के साथ ही कोहली के नाम हो जाएगा ‘विराट’ रिकॉर्ड, धोनी छूट जाएंगे पीछे
2 एनसीए के प्रमुख बने राहुल द्रविड़ इंडिया ए और अंडर-19 टीम के कोच पद हटाए गए, जानिए यह है कारण
3 258 रनों पर सिमटी अफ्रीकी ए टीम, भारत ने 69 रनों से हराया
ये पढ़ा क्या?
X