ताज़ा खबर
 

ललित मोदी को घेरने की पूरी तैयारी में ईडी

प्रवर्तन निदेशालय ने आईपीएल से संंबंधित धन शोधन के मामले में ललित मोदी और अन्य को घेरने की पूरी तैयारी कर ली है। उनके खिलाफ पुख्ता मामला तैयार करने के लिए...

प्रवर्तन निदेशालय ने आईपीएल से संंबंधित धन शोधन के मामले में ललित मोदी और अन्य को घेरने की पूरी तैयारी कर ली है। उनके खिलाफ पुख्ता मामला तैयार करने के लिए उसने अपनी प्राथमिकी में टी-20 लीग के आयोजन में उनके खिलाफ फेमा उल्लंघन के विभिन्न आरोप भी जोड़े हैं।

प्रथम दृष्टया उनके खिलाफ स्थापित विदेशी मुद्रा विनिमय उल्लंघन के आरोपोें को कथित धन शोधन के सिलसिले में दर्ज प्राथमिकी में शामिल किया जाना प्रवर्तन निदेशालय के मामले को प्रोत्साहन देगा क्योंकि दूसरे देश से अदालत द्वारा मदद मांगने के लिए किया गया अनुरोध उसको वजन देगा। दूसरे देशों के अधिकारी विदेशी मुद्रा विनिमय प्रबंधन अधिनियम (फेमा) उल्लंघन जैसे दीवानी मामलों में बमुश्किल ही कोई सहायता करते हैं लेकिन धन शोधन जैसे आपराधिक उल्लंघनों को गंभीरता से लेते हैं।

ललित मोदी के अलावा बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन और एक दर्जन अन्य व्यक्तियों और कंपनियों पर विदेशी मुद्रा विनिमय कानूनों के उल्लंघन के आरोप लगाए गए हैं और अब मामलों पर फैसला किया जाना है। इस बारे में जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने आईपीएल में कम से कम 16 फेमा उलंघन के मामले पाए हैं। एजेंसी आईपीएल और उसके अधिकारियों के खिलाफ कठोर धन शोधन कानूनों के तहत 2012 में दर्ज प्राथमिकी के तहत जांच कर रहा है। यह जांच श्रीनिवासन द्वारा मोदी और आधा दर्जन अन्य लोगों के खिलाफ चेन्नई पुलिस में दर्ज कराई गई धोखाधड़ी की शिकायत का संज्ञान लेने के बाद शुरू की गई।

सूत्रों ने बताया कि यह कदम अधिकारियों को आरोपियों के खिलाफ पुख्ता मामला तैयार करने में मदद करेगा। यह मोदी समेत आरोपियों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय कानूनी सहयोग दस्तावेज तैयार करने में भी मदद करेगा। प्रवर्तन निदेशालय लंबे समय से चाह रहा है कि मोदी जांच में शामिल हों। प्रवर्तन निदेशालय ने मुंबई में अपने जोनल कार्यालय में जो प्राथमिकी दर्ज की है वह दर्शाती है कि एजेंसी ने जांच के लिए धन शोधन निरोधक अधिनियम, आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी) और 120 बी (आपराधिक साजिश) के तहत प्राथमिकी दर्ज है कि क्या बीसीसीआई-आईपीएल और सरकारी खजाने के साथ 2009 में आईपीएल के प्रसारण अधिकार देने में धोखाधड़ी की गई है।

Next Stories
1 धोनी का धैर्य और कोहली की आक्रामकता चाहते हैं अजिंक्य रहाणे
2 बांग्लादेश ने उड़ाया टीम इंडिया का मजाक, फोटो में किया सबको गंजा
3 ललित मोदी पर कसेगा शिकंजा, ईडी ने सिंगापुर-मॉरीशस से मांगी मदद
ये पढ़ा क्या?
X