ताज़ा खबर
 

खेलों की नई दुनिया है ई-स्पोर्ट्स

इंडोनेशिया में चल रहे एशियाई खेलों में ई-स्पोर्ट्स को प्रदर्शन खेल के तौर पर शामिल किया गया है। 2022 के होंगजोऊ खेलो में ई-स्पोर्ट्स को मुख्य खेलों में शामिल करने की बात हो रही है।

Author August 23, 2018 7:15 AM
ई-स्पोर्ट्स इलेक्ट्रॉनिक खेलों को कहा जाता है। इसमें वीडियो गेम्स के जरिए खेल होते हैं। इसमें उन वीडियो गेम्स को शामिल किया जाता है जो एक से ज्यादा खिलाड़ी खेल सकें।

मनीष कुमार जोशी

इंडोनेशिया में चल रहे एशियाई खेलों में ई-स्पोर्ट्स को प्रदर्शन खेल के तौर पर शामिल किया गया है। 2022 के होंगजोऊ खेलो में ई-स्पोर्ट्स को मुख्य खेलों में शामिल करने की बात हो रही है। हाल ही में इसे शीत ओलंपिक में शामिल किया गया और अब ओलंपिक में भी शामिल करने पर विचार किया जा रहा है। दूसरी तरफ इसके एशियाई खेलों और ओलंपिक में शामिल करने का विरोध भी हो रहा है।

ई-स्पोर्ट्स इलेक्ट्रॉनिक खेलों को कहा जाता है। इसमें वीडियो गेम्स के जरिए खेल होते हैं। इसमें उन वीडियो गेम्स को शामिल किया जाता है जो एक से ज्यादा खिलाड़ी खेल सकें। इसमें मुख्य रूप से रियल टाइम स्ट्रेटजी (आरटीएस), फर्स्ट परसन शूटर और मल्टीप्लेयर बैटल ऐरिना खेल शामिल होते हैं। इसमें भी क्वालीफाई करना उतना ही मुश्किल है जितना फीफा में। इसके लिए पूरी दुनिया में हर एक महाद्वीप के जोन बने हुए हैं जिसमें से मुख्य प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई किया जाता है।

एशिया महाद्वीप में इसके पांच जोन हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये खेल कितने लोकप्रिय हैं। इसकी सबसे बड़ी प्रतियोगिता लीग ऑफ लीजेंड्स विश्व चैंपियन है। 2017 की इस चैंपियनशिप को लगभग पांच करोड़ लोगों ने देखा। इसकी औसतन दर्शक संख्या पूरी दुनिया में 40 करोड़ है। जापान और चीन इस खेल में अग्रणी हैं। चीन 2022 के एशियाई खेलो में इसे शामिल करने का जोरदार समर्थन कर रहा है, वहीं जापान इसे 2020 के ओलंपिक में शामिल करने पर जोर दे रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App