क्या है ‘कोपक नियम’ जिसके तहत ओलिवियर अब दक्षिण अफ्रीका से नहीं खेलेंगे, मोर्ने मोर्कल, रोसो और पर्नेल भुगत चुके हैं इसका खामियाजा

‘कोपक नियम’ के तहत अब दक्षिण अफ्रीका की टीम से नहीं खेलेंगे तेज गेंदबाज डुआने ओलिवर। इस से पहले दिग्गज गेंदबाज मोर्ने मोर्कल, वेन पर्नेल, जैक रुडोल्फ, काइल एबॉट और रिली रोसो जैसे खिलाड़ी ये कर चुके हैं। जानें क्या है कोपक नियम?

क्या है 'कोपक नियम' जिसके तहत दक्षिण अफ्रीका के कई दिग्गजों ने छोड़ दी टीम

दक्षिण अफ्रीका को विश्वकप से पहले बड़ा झटका लगा है। अफ्रीका के लिए मात्र दो वनडे मैच खेलने वाले तेज गेंदबाज डुआने ओलिवर ने राष्ट्रीय टीम का साथ छोड़कर इंग्लिश काउंटी यॉर्कशायर से जुड़ने का फैसला किया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ओलिवर ने काउंटी टीम यॉर्कशायर के साथ तीन साल का करार किया है जिसकी वजह से अब वह दक्षिण अफ्रीका की टीम में अपनी सेवा नहीं दे पाएंगे। वह मार्च में यॉर्कशायर टीम के साथ जुड़ेंगे। ओलिवर ने ये करार ‘कोपक नियम’ के तहत किया है। ये पहली बार नहीं है जब इस नियम के तहत किसी खिलाड़ी ने टीम का साथ छोड़ दिया हो। इस से पहले दिग्गज गेंदबाज मोर्ने मोर्कल, वेन पर्नेल, जैक रुडोल्फ, काइल एबॉट और रिली रोसो जैसे खिलाड़ी ये कर चुके हैं। क्या आप जानते हैं क्या है ये कोपक नियम?

दरअसल ‘कोपक नियम’ दक्षिण अफ्रीका और यूरोपियन यूनियन के बीच किया गया एक एग्रीमेंट है। इसे ‘कोपक एग्रीमेंट’ भी कहते हैं। दक्षिण अफ्रीका ने इस एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किए हैं। इस नियम के तहत दक्षिण अफ्रीका का कोई भी खिलाड़ी इंग्लैंड और अन्य यूरापियन देशों की तरफ से खेलने के लिए मुक्त हो जाएगा। दक्षिण अफ्रीका के अलावा जिम्बॉब्वे और कैरिबियन देश भी इस एग्रीमेंट के साथ जुड़े हैं। इस नियम के तहत इंग्लिश काउंटी टीम से करार करने के बाद कोई भी खिलाड़ी अपने देश के लिए तब तक नहीं खेल सकता जब तक उसका करार काउंटी टीम से खत्म नहीं हो जाता। हां अगर काउंटी क्रिकेट नहीं खेला जा रहा है तब वह देश क लिए खेल सकता है। कुल मिला के इस नियम के तहत खिलाड़ी की पहली प्राथमिकता इंग्लिश काउंटी टीम के लिए खेलना होगा न की देश के लिए।

बता दें 26 वर्षीय ओलिवर ने दक्षिण अफ्रीका के लिए अब तक 10 टेस्ट और मात्र दो वनडे मैच खेला है, जिसमें उन्होंने 48 और तीन विकेट लिए हैं। उन्होंने इसी साल जनवरी में वनडे और जनवरी 2017 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था। पाकिस्तान के खिलाफ पिछले साल दिसंबर में खेले गए सेंचुरियन टेस्ट में उन्होंने पहली पारी में छह जबकि दूसरी पारी में पांच विकेट हासिल किए थे। मैच 11 विकेट लेने वाले ओलिवर को मैन ऑफ द मैच चुना गया था। यॉर्कशायर ने ओलिवर के हवाले से कहा, “मैं पिछले साल इंग्लैंड आया था और काउंटी क्रिकेट खेलते हुए मैंने इसका पूरा आनंद लिया। मैं मूल रूप से एक विदेशी खिलाड़ी के रूप में वापस आना चाहता था। लेकिन जब मुझे यॉर्कशायर से एक प्रस्ताव मिला, तो मुझे पता था कि क्लब के लिए हस्ताक्षर करना मेरे और मेरे परिवार दोनों के लिए सबसे अच्छा विकल्प होगा।”

अपडेट