भारत में क्रिकेट से नफरत करने लगा था इंग्लैंड का यह गेंदबाज, बताया अजीबोगरीब कारण

डॉम बेस चार टेस्ट मैचों की सीरीज के दो मैचों में खेले और उन्हें सिर्फ पांच विकेट मिले थे। टीम इंडिया सीरीज 2-1 से जीती थी। चेन्नई में पहले टेस्ट में इंग्लैंड की जीत में मदद करने के बाद बेस को अंतिम एकादश से बाहर कर दिया गया।

Dom Bess, india vs englandडॉम बेस ने इंग्लैंड के लिए 14 टेस्ट मैचों में 36 विकेट अपने नाम किए हैं। (फोटो- PTI)

इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर डॉम बेस ने खुलासा किया है कि भारत दौरे के दौरान क्रिकेट से नफरत करने लगे थे। इसका कारण उन्होंने बायो-बबल को बताया। बेस चार टेस्ट मैचों की सीरीज के दो मैचों में खेले और उन्हें सिर्फ पांच विकेट मिले थे। टीम इंडिया सीरीज 2-1 से जीती थी। चेन्नई में पहले टेस्ट में इंग्लैंड की जीत में मदद करने के बाद बेस को अंतिम एकादश से बाहर कर दिया गया। उन्होंने अहमदाबाद में अंतिम टेस्ट के लिए टीम में वापसी की, लेकिन पारी की हार के दौरान उन्हें कोई विकेट नहीं मिला।

भारत में लगभग सात हफ्ते बायो-बबल में गुजारने के बाद 23 साल के बेस अब काउंटी सत्र में हिस्सा ले रहे हैं। बेस यॉर्कशर की ओर से खेलते हुए फॉर्म में वापसी की कोशिशों में जुटे हैं। ईएसपीएनक्रिकइंफो ने बेस के हवाले से कहा, ‘‘भारत दौरे के बाद मैंने अच्छा ब्रेक लिया क्योंकि मैं क्रिकेट से नफरत करने लगा था। मैं बेहद दबाव में था, निश्चित तौर पर भारत में बायो-बबल के दौरान, उस दौरान काफी दबाव था और मेरे लिए यह काफी अहम था कि वापस आकर मैं इससे दूर हो जाऊं।’’

भारत से लौटने के बाद बेस ने दो से तीन हफ्ते का ब्रेक लिया और इस दौरान लीड्स में अपने नए घर में अपनी प्रेमिका और पालतू कुत्ते के साथ समय बिताया। बेस ने कहा, ‘‘उन्हें देखकर अच्छा लगा और इससे (क्रिकेट से) दूर रहना, क्योंकि भारत में बायो-बबल में क्रिकेट ही सब कुछ था। जब आप अच्छा प्रदर्शन करते हो तो ठीक है लेकिन जब चीजें सही नहीं होती तो फिर काफी मुश्किल हो जाती हैं। लेकिन भारत में जो हुआ उसे मैं सकारात्मक पक्ष के रूप में देखता हूं। यह काफी मुश्किल समय था लेकिन मेरे लिए सीखने के लिहाज से महत्वपूर्ण। इस नजरिए से भी कि मैं अपने खेल को कहां देखता हूं, मुझे पता है कि मुझे क्या करना है।’’

काउंटी चैंपियनशिप के पहले दो दौर में सीमित सफलता के बाद बेस ने अपने नए क्लब की ओर से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए होव में ससेक्स के खिलाफ तीसरे दिन पहली बार पांच विकेट चटकाए। बेस ने कहा कि उन्होंने भारत में कुछ कड़े सबक सीखे और उनका मानना है कि इससे दीर्घकाल में इंग्लैंड की टीम के साथ सफलता हासिल करने की संभावना में सुधार में मदद मिलनी चाहिए।

Next Stories
1 चेन्नई ने RCB को हरा लगाया जीत का चौका; जडेजा ने 1 ओवर में ठोके 37 रन, झटके 3 विकेट
2 हैदराबाद का मध्यक्रम एक बार फिर फेल, काम नहीं आई विलियमसन की पारी; दिल्ली ने सुपर ओवर में हराया
3 वानखेड़े में 9 साल से लगातार हार रही है कोलकाता नाइटराइडर्स, पाकिस्तान की टी20 टीम के इस रिकॉर्ड की बराबरी की
यह पढ़ा क्या?
X