ताज़ा खबर
 

दिग्‍गज बल्‍लेबाज स‍नथ जयसूर्या ने बांग्‍लादेश को क्‍यों कहा ‘थर्ड क्‍लास’, जानिए

बिना सच्चाई जाने जयसूर्या ने ट्वीट तो कर दिया लेकिन उन्हें अपनी गलती का जल्दी एहसास हो गया और उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया। हालांकि उनके इस ट्वीट को डिलीट करने से पहले ही एक ट्विटर यूजर ने इसका स्क्रीनशॉट ले लिया और इसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया।

Author नई दिल्ली | March 18, 2018 12:42 PM
श्रीलंका के पूर्व कप्तान सनत जयसूर्या। (रॉयटर्स फाइल पोटो)

कोलंबो के आर प्रेमादास स्टेडियम में शुक्रवार को श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेले गए टी20 मैच में माहौल काफी गरम रहा। मैदान का विवाद बाउड्री के बाहर बांग्लादेश के ड्रेसिंग रूम तक पहुंचा, जहां पर ड्रेसिंग रूम के शीशे टूटे पाए गए। ऐसा बताया जा रहा है कि बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने ही कथित तौर पर ड्रेसिंग रूम के शीशे तोड़े हैं। इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए श्रीलंका के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सनथ जयसूर्या ने बांग्लादेशी खिलाड़ियों को थर्ड क्लास कहते हुए ट्वीट कर दिया।

सनथ जयसूर्या ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “श्रीलंका के खिलाफ मैच जीतने के बाद जश्न में हुए विवाद का निष्कर्ष आर प्रेमादासा स्टेडियम में बांग्लादेशी ड्रेसिंग रूम के शीशे तोड़ दिए गए। थर्ड क्लास व्यवहार।” बिना सच्चाई जाने जयसूर्या ने ट्वीट तो कर दिया लेकिन उन्हें अपनी गलती का जल्दी एहसास हो गया और उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया। हालांकि उनके इस ट्वीट को डिलीट करने से पहले ही एक ट्विटर यूजर ने इसका स्क्रीनशॉट ले लिया और इसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया।

आपको बता दें कि शुक्रवार को खेले गए इस मैच के दौरान दो बार मेजबान और बांग्लादेश टीम के खिलाड़ियों के बीच हाथापाई होने से बची। वहीं दोनों टीमों के बीच काफी नौकझोंक भी हुई जिससे मैदान का माहौल कड़वाहट भरा रहा। फिलहाल बांग्लादेशी खिलाड़ियों के ड्रेसिंग रूम के शीशे तोड़ने के पीछे किसका हाथ है इसकी जांच की जा रही है। वहीं अंपायर से झगड़ने के लिए बांग्लादेश के खिलाड़ी शाकिब अल हसन और सबस्टीट्यूट नरुल हसन पर मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है। मैच के बाद मीडिया से बात करते हुए ड्रेसिंग रूम के शीशे तोड़ने के मामले पर शाकिब ने कहा कि वे इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहते हैं लेकिन इसकी शुरुआत अंपायर द्वारा नो बॉल न देने के बाद हुई थी। शाकिब ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि अंपायर ने सही फैसला लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App