‘हमें मरने के लिए अकेला मत छोड़ें, अफगानिस्तान को बर्बाद होने से बचा लें,’ दुनिया भर के नेताओं से राशिद खान ने लगाई मदद की गुहार

अमेरिकी सेना की वापसी के बाद से अफगानिस्तान में फिर से तालिबान का आतंक बढ़ गया है। तालिबान ने क्रूरता की सारी हदें पार कर दीं हैं। कुछ दिन पहले तालिबान के आतंकियों ने एक लड़की की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी थी, क्योंकि उसने टाइट कपड़े पहने थे।

Afghan Forces Afghanistan Ashraf Ghani Taliban Rashid Khan
अफगानिस्तान से अमेरिका के निकलने के ऐलान के बाद से ही चीन और पाकिस्तान की इस कूटनीतिक तौर पर अहम क्षेत्र पर नजर जम गई है। (फोटो- Reuters)

करिश्माई स्पिनर राशिद खान ने एक भावुक संदेश के जरिए दुनिया के भर के नेताओं से अफगानिस्तान और वहां के लोगों को बचाने की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा है कि हमें मरने के लिए अकेला मत छोड़िए, अफगानिस्तान को बर्बाद होने से बचा लें। बता दें कि तालिबान अफगानिस्तान के बड़े शहरों पर लगातार कब्जा करता जा रहा है। उसका देश के पूर्वोत्तर हिस्से पर चरमपंथी संगठन तालिबान का पूरा कब्जा हो गया है।

बीते शुक्रवार से अब तक चरमपंथी संगठन ने देश के 8 सूबों की राजधानियों को अपने कब्जे में ले लिया है। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने बुधवार यानी 11 अगस्त 2021 को उत्तरी शहर मजार-ए-शरीफ के लिए उड़ान भरी। मजार में गनी ने अट्टा मोहम्मद नूर और अब्दुल राशिद दोस्तम के साथ शहर की रक्षा के बारे में बातचीत की। अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी तालिबान के कब्जे वाले इलाके से घिरे बाल्ख सूबा गए हैं ताकि तालिबान को पीछे धकेलने के लिए स्थानीय सरदारों से मदद मांगी जा सके।

राशिद खान भी अपने देश के हालात से काफी दुखी हैं। उन्होंने इस संबंध में एक ट्वीट किया। ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘दुनिया भर के प्यारे नेताओं। इस वक्त मेरा देश संकट में है। हर दिन महिलाओं और बच्चों समेत हजारों निर्दोष लोगों की हत्याएं हो रही हैं। घरों और संपत्तियों को बर्बाद किया जा रहा है। लोग अपना घर छोड़कर भाग जाने के लिए मजबूर किए जा रहे हैं। इन हालात में हमें अकेला मत छोड़िए।’

उन्होंने ट्वीट में यह भी लिखा, ‘अफगानिस्तान और यहां के लोगों को बर्बाद होने से बचा लें। हम शांति चाहते हैं।’ बता दें कि राशिद खान इन दिनों इंग्लैंड में द हंड्रेड मेन्स कॉम्प्टीशिन में हिस्सा ले रहे हैं। वह टूर्नामेंट की फ्रैंचाइजी ट्रेंट रॉकेट्स का हिस्सा हैं।

वहीं, अमेरिकी सेना की वापसी के बाद से अफगानिस्तान में फिर से तालिबान का आतंक बढ़ गया है। तालिबान ने क्रूरता की सारी हदें पार कर दीं हैं। कुछ दिन पहले तालिबान के आतंकियों ने एक लड़की की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी थी, क्योंकि उसने टाइट कपड़े पहने थे और उसके साथ कोई पुरुष साथी नहीं था।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट