scorecardresearch

नाकामी बर्दाश्त नहीं कर पाते थे रवि शास्त्री, टीम इंडिया के पूर्व कोच को लेकर दिनेश कार्तिक का बड़ा बयान

रवि शास्त्री का पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में हुए टी-20 वर्ल्ड कप के बाद कोच के तौर पर कार्यकाल समाप्त हो गया था। विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम के लिए टूर्नामेंट अच्छा नहीं रहा। टीम पहले ही दौर से बाहर हो गई।

नाकामी बर्दाश्त नहीं कर पाते थे रवि शास्त्री, टीम इंडिया के पूर्व कोच को लेकर दिनेश कार्तिक का बड़ा बयान
टीम इंडिया के पूर्व कोच रवि शास्त्री। (फाइल फोटो)

Dinesh Karthik on Ravi Shastri : भारत के अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने कहा है कि पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री खिलाड़ियों को खास उपलब्धियां अर्जित करने के लिए प्रेरित करते थे लेकिन नाकामी बर्दाश्त नहीं कर पाते थे। शास्त्री और कोहली का कार्यकाल भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा रहा, लेकिन अक्सर दोनों की खराब दौर से जूझ रहे खिलाड़ियों के साथ खड़े नहीं होने के लिए आलोचना होती रही है।

कार्तिक ने क्रिकबज के कार्यक्रम ‘समर स्टेलमेट’ में कहा,‘‘ उन्हें (शास्त्री को) ऐसे लोग पसंद नहीं थे जो एक निश्चित तेजी से बल्लेबाजी नहीं कर पाते थे या नेट पर कुछ और करते थे और मैच में कुछ और। वह इसे पसंद नहीं करते थे। उन्हें पता था कि टीम से क्या चाहिए और टीम को कैसे खेलना है। वह नाकामी बर्दाश्त नहीं कर पाते थे। वह हमेशा सभी को अच्छा खेलने के लिए प्रेरित करते थे।’’

37 वर्ष के कार्तिक ने कहा कि वह रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ के इस दौर में अधिक सुकून महसूस कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि शास्त्री एक खिलाड़ी के तौर पर शायद उतने प्रतिभाशाली नहीं थे, लेकिन कोच के रूप में उन्होंने अच्छा काम किया। उन्होंने उम्मीद से कहीं ज्यादा बेहतर काम किया। एक कोच में उन्होंने खिलाड़ियों को विशेष चीजों को आजमाने और हासिल करने के लिए प्रेरित किया।”

बतौर टीम इंडिया का कोच शास्त्री का कार्यकाल शानदार रहा। उनक कार्यकाल में भारत ने ऑस्ट्रेलिया की धरती पर दो बार टेस्ट सीरीज अपने नाम किया। इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज 2-2 से ड्रॉ किया और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भी प्रवेश किया। हालांकि, उन्हें इस बात का मलाल जरूर होगा कि टीम टेस्ट चैंपियनशिप में हार गई। इसके अलावा कोई आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीती।

शास्त्री का पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में हुए टी-20 वर्ल्ड कप के बाद कोच के तौर पर कार्यकाल समाप्त हो गया था। विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम के लिए टूर्नामेंट अच्छा नहीं रहा। टीम पहले ही दौर से बाहर हो गई। पहली बार वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद राहुल द्रविड़ ने उनकी जगह ले ली और विराट की जगह रोहित शर्मा कप्तान हैं।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट