ताज़ा खबर
 

हरमनप्रीत कौर की जर्सी नंबर का है 84 दंगों से कनेक्‍शन, जानिए…

8 मार्च 1989 को पंजाब के मोगा में जन्मी हरमनप्रीत के पिता सतविंदर सिंह खुद भी एक खिलाड़ी रहे हैं। हरमनप्रीत ने 20 साल की उम्र में अपना डेब्यू किया था।

Author Updated: March 8, 2018 10:15 AM
जर्सी नंबर-84 के साथ हरमनप्रीत कौर।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की विस्फोटक बल्लेबाज हरमनप्रीत कौर को आपने कई बार 84 नंबर की जर्सी में खेलते देखा होगा। क्या आप जानते हैं कि आखिरी इसके पीछे की वजह क्या है? दरअसल इसके पीछे हरमनप्रीत कौर के इमोशंस जुड़े हैं। ये ऐसी यादे हैं जो 1984 में हुए सिक्ख दंगों की याद दिलाती हैं। हालांकि ये भयावह यादें हैं लेकिन हरमनप्रीत इसे पॉजीटिव रूप में लेती हैं। वह 1984 के दंगा पीडितों की एकजुटता के लिए ये जर्सी पहनती हैं। हालांकि कई बार उन्हें जर्सी नंबर-17 में भी देखा गया है। हरमनप्रीत बिग बैश में भी 84 नंबर की ही जर्सी पहनती हैं।

अर्जुन पुरस्कार से किया गया सम्मानित: हरमनप्रीत ने विश्व कप-2017 के दौरान 115 गेंदों में 171 रन की धुआंधार पारी खेली थी। इसके बाद वह रातों-रात स्टार बन गईं। भारत की टी-20 महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर भारतीय रेलवे की नौकरी छोड़कर पंजाब पुलिस में पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) के पद पर नियुक्त हैं। इससे पहले, अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित हरमनप्रीत को पश्चिम रेलवे उनके पद पर बनाए रखना चाहता था, जहां वह कार्यालय अधीक्षक के रूप में काम कर रही थीं।

शर्ट रही लकी: 8 मार्च 1989 को पंजाब के मोगा में जन्मी हरमनप्रीत के पिता सतविंदर सिंह खुद भी एक खिलाड़ी रहे हैं। हरमनप्रीत ने 20 साल की उम्र में अपना डेब्यू किया था। हरमनप्रीत का जिस दिन जन्म हुआ था उस वक्त उन्हें एक शर्ट पहनाई गई थी, जिसके ऊपर गुड बेटिंग प्रिंट था। परिवार का मानना है कि शायद उस शर्ट ने ही हरमन को यहां तक पहुंचाया है।

प्रदर्शन भी लाजवाब: हरमनप्रीत कौर ने 2 टेस्ट मैचों की 3 पारियों में 26 रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 81 वनडे में 69.67 के स्ट्राइक के साथ 2121 रन बनाए। हरमनप्रीत एकदवसीय मैचों में 3 शतक और 11 अर्धशतक जड़ चुकी हैं। बात अगर टी20 की करें, तो इस दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 73 मैचों में 1305 रन बनाए। हरमनप्रीत राइट आर्म ऑफब्रेक गेंदबाजी करती हैं। उन्होंने बल्ले के अलावा बॉल के साथ भी अपनी पहचान बनाई है। हरमन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 43 शिकार कर चुकी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बदलाव: अब फुटबॉल में भी आई तकनीक
2 क्रिकेट: सफेद गेंद का मुकाबला कर पाएगी गुलाबी गेंद!
3 अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस: महिला क्रिकेट को मिली मजबूती