ताज़ा खबर
 

धोनी के रिटायरमेंट पर हो रही थी बहस, अपने वक्त के सिलेक्टर पर बरस पड़े सहवाग, कहा- मुझसे पूछा था क्या

उन्होंने कहा, 'एमएस धोनी खुद फैसला करें कि यह उनकी आखिरी सीरीज है और इस सीरीज को खेलकर वे रिटायर हो जाएंगे। सिलेक्टरों का फैसला यह है कि वे धोनी को बताए कि हम आपको विकेटकीपर बैट्समैन के तौर पर नहीं देख रहे हैं। आप हमें अपना प्लान बताएं। काश मुझसे भी पूछा लिया गया होता कि मेरा प्लान क्या है, तो मैं भी उन्हें बता देता कि मेरा प्लान क्या है, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।'

Mahendra Singh Dhoni and Virender Sehwagमहेंद्र सिंह धोनी और वीरेंद्र सहवाग। (pc- PTI)

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में टीम इंडिया का सफर सेमीफाइनल में ही खत्म हो गया था। सेमीफाइनल से पहले ऐसी खबरें आईं थीं कि टीम इंडिया यदि फाइनल में पहुंचकर खिताब जीतने में सफल हो जाती है तो महेंद्र सिंह धोनी अपने संन्यास का ऐलान कर सकते हैं। हालांकि, ना तो टीम इंडिया फाइनल में जगह बना पाई और ना ही धोनी ने संन्यास का ऐलान किया। अब भारतीय टीम का 3 अगस्त से वेस्टइंडीज दौरा शुरू होने वाला है। उसके लिए 19 जुलाई को टीम की घोषणा की जाएगी। हालांकि, इससे पहले ही खबर आई कि बीसीसीआई धोनी को जबरदस्ती संन्यास दिलाने के मूड में है। भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों का यह बहुत बड़ा वर्ग चाहता है कि धोनी अभी क्रिकेट खेलें।

एक टीवी चैनल पर धोनी के रिटायरमेंट को लेकर हो रही बहस के दौरान वीरेंद्र सहवाग अपने वक्त के चयनकर्ता संदीप पाटिल पर बरस पड़े। सहवाग ने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि उनके रिटायरमेंट को लेकर किसी ने नहीं पूछा था कि उनका प्लान क्या है। उन्होंने कहा, ‘एमएस धोनी खुद फैसला करें कि यह उनकी आखिरी सीरीज है और इस सीरीज को खेलकर वे रिटायर हो जाएंगे। सिलेक्टरों का फैसला यह है कि वे धोनी को बताए कि हम आपको विकेटकीपर बैट्समैन के तौर पर नहीं देख रहे हैं। आप हमें अपना प्लान बताएं। काश मुझसे भी पूछा लिया गया होता कि मेरा प्लान क्या है, तो मैं भी उन्हें बता देता कि मेरा प्लान क्या है, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।’

इस पर संदीप पाटिल ने कहा कि उन्होंने अपने साथी सिलेक्टर विक्रम राठौड़ को वीरू से बात करने के लिए बोला था। इस पर सहवाग ने कहा कि राठौर ने मुझसे तब बात की जब मुझे ड्राप कर दिया गया था। ड्राप करने के बाद ऐसी बात के कोई मायने नहीं होते। अगर धोनी को ड्राप करने के बाद एमएसके प्रसाद उनसे पूछें कि आपके प्लान क्या हैं? तो फिर धोनी क्या कहेंगे। तब तो वे ड्राप ही हो गए। मैं फर्स्ट क्लास खेलूंगा और रन बनाऊंगा तो ले लीजिएगा।

बता दें कि धोनी को लेकर सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और कपिल देव जैसे पूर्व भारतीय क्रिकेटर लगातार अपनी बात रख रहे हैं। इन दिग्गजों का भी मानना है कि धोनी को अब संन्यास लेकर भविष्य की ओर देखना चाहिए। धोनी की कप्तानी में भारत साल 2007 का टी-20 वर्ल्ड कप और साल 2011 में 50-50 फॉर्मेट का वर्ल्ड कप जीतने में कामयाब रही थी। वहीं धोनी की कप्तानी में भारत ने इंग्लैंड को 3 विकेट से हराकर चैंपियंस ट्रॉफी 2013 का खिताब अपने नाम किया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वर्ल्ड कप : इंग्लैंड ने अपने 52% रन बाउंड्री से बनाए, इस मालमे में टीम इंडिया तीसरे नंबर पर रही
2 5 बार के सर्वश्रेष्ठ अंपायर साइमन टॉफेल ने कहा- ओवर-थ्रो में इंग्लैंड को 6 रन मिलना गलत
3 निरंजन मुकुंदन : विश्व रेकॉर्ड बनाने वाला पैरा तैराक