ताज़ा खबर
 

IPL-8: घरेलू मैदान पर आखिरी मैच में जीत दर्ज करना चाहेगी दिल्ली

घरेलू मैदान पर दिल्ली डेयरडेविल्स शुक्रवार को इस सत्र का अपना आखिरी मैच किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेलेगी तो उसके सामने एक ही लक्ष्य होगा, जीत की राह पर लौट कर...

फ़ज़ल इमाम मल्लिक

घरेलू मैदान पर दिल्ली डेयरडेविल्स शुक्रवार को इस सत्र का अपना आखिरी मैच किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेलेगी तो उसके सामने एक ही लक्ष्य होगा, जीत की राह पर लौट कर अंक तालिका में अपनी स्थिति को बेहतर करना।

फीरोज शाह कोटला मैदान पर पिछले मैच में बंगलूर के खिलाफ उसका प्रदर्शन दयनीय रहा था। न बल्लेबाज चले थे और न ही गेंदबाज अपनी रंग में दिखे थे। टीम सौ रन भी नहीं बना पाई थी और जब दूसरी टीम में क्रिस गेल और डिविलियर्स सरीखे बल्लेबाज हों तो गेंदबाजों के लिए इतने छोटे टोटल का बचाव मुश्किल हो जाता है। हुआ भी कुछ ऐसा ही था।

अकेले गेल ने मैच में धुआंधार कर दिल्ली को वापसी का कोई मौका नहीं दिया। ग्यारहवें ओवर में ही बंगलूर ने बिना कोई विकेट गंवाए जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया था। इससे मैच पर गेल के दबदबे को समझा जा सकता है। इसलिए दिल्ली पर शुक्रवार को पंजाब के खिलाफ बेहतर करने का दबाव रहेगा।

बीते गुरुवार को दिल्ली ने फीरोज शाह कोटला मैदान पर मुंबई इंडियंस को हरा कर आइपीएल में नौ मैचों के बाद जीत दर्ज की थी। तब यह उम्मीद बंधी थी कि दिल्ली अपने इस घरेलू मैदान पर जीत के लय को बरकरार रखेगी लेकिन बंगलूर ने उसे बुरी तरह हरा कर उसके जीत के सफर को थाम दिया था।

दिल्ली को उम्मीद है कि शुक्रवार को पंजाब के खिलाफ टीम एकजुट होकर बेहतर प्रदर्शन कर जीत दर्ज करेगी। प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए दिल्ली को यकीनन बेहतर प्रदर्शन करना होगा। शुरुआती कुछ मैचों में दिल्ली की टीम ने आखिरी गेंदों पर मात खा गई थी इसलिए आज वह अंक तालिका में छठे स्थान पर दिखाई दे रही है।

दिल्ली की परेशानी टीम संयोजन को लेकर है। युवराज सिंह को दिल्ली ने सोलह करोड़ रुपए में खरीदा था लेकिन उनका प्रदर्शन इस कीमत को गलत साबित कर रहा है। कप्तान जेपी डुमिनी ने कुछ अच्छी पारियां जरूर खेलीं हैं लेकिन अभी उनका भी श्रेष्ठ आना बाकी है।

ओपनर श्रेयस अय्यर ही इस सत्र में रन बना रहे हैं। दोनों ने सात मैचों में अब तक दो सौ से ज्यादा रन बनाए हैं। मयंक अग्रवाल ने शुरुआती एक-दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन इसके बाद रनों के लिए वे जूझ रहे हैं। अभी उनके खाते में करीब 150 रन हैं। दिल्ली की टीम को युवराज और मयंक को आराम देकर मनोज तिवारी और क्विंटन डिकाक सरीखे खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए।

जहीर खान को लेकर संशय अभी भी बना हुआ है हालांकि टीम प्रबंधन ने इस बात के संकेत जरूर दिए हैं कि वे शुक्रवार को अंतिम एकादश का हिस्सा हो सकते हैं। दिल्ली का सकारात्मक पक्ष उसकी गेंदबाजी ही रही है। खास कर स्पिनरों ने कमाल भरा प्रदर्शन किया है। लेग स्पिनर इमरान ताहिर तेरह विकेट लेकर सूची में दूसरे स्थान पर हैं। दूसरे लेग स्पिनर अमित मिश्रा का प्रदर्शन भी बेहतर रहा है। शहबाज नदीम ने दो मैच खेला है और उनका प्रदर्शन भी ठीक रहा है। दिल्ली की परेशानी गेंदबाजी नहीं, बल्लेबाजी रही है। टीम अगर इससे उबर जाती है तो फिर किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ वह जीत दर्ज करने में कामयाब होगी।

दिल्ली के लिए हालांकि थोड़ी राहत इस बात को लेकर होगी कि किंग्स इलेवन पंजाब का प्रदर्शन आइपीएल के इस सत्र में बहुत चमकदार नहीं रहा है। दूसरी बात जो दिल्ली के पक्ष में जाती है वह है पिछले मैच में पंजाब पर जीत दर्ज करना। इसका मनोवैज्ञानिक लाभ उसे मिल सकता है।

पंजाब ने अब तक उसने सात में से दो मैच जीते हैं और अंक तलिका में सबसे नीचे है। राजस्थान रॉयल्स पर उसने जीत सुपर ओवर में दर्ज की थी। उसका प्रदर्शन औसत से भी नीचे रहा है। न तो उसके बल्लेबाज चल पा रहे हैं और न ही गेंदबाज। वीरेंद्र सहवाग और ग्लेन मैक्सवेल चल नहीं पा रहे हैं। गेंदबाजी में मिचल जानसन में वह धार नहीं दिखाई दे रही है। अनुरीत सिंह और संदीप शर्मा ने जरूर प्रभावित किया है लेकिन उनकी कोशिशों पर बल्लेबाज पानी फेर दे रहे हैं।

शुक्रवार को कप्तान जॉर्ज बेली और शॉन मार्श के खेलने को लेकर संशय है। दोनों अभ्यास के दौरान चोट खा बैठे हैं। ऐसे में पंजाब की परेशानी और बढ़ सकती है। सहवाग और मैक्सवेल को पिछले मैचों में अंतिम ग्यारह में जगह नहीं मिली थी, लेकिन इसके बावजूद टीम हार के सिलसिले को तोड़ नहीं पाई।

शुक्रवार के मैच में दिल्ली का पलड़ा थोड़ा भारी जरूर है लेकिन बीसम बीस क्रिकेट में कब कौन सी टीम कमाल दिखा दे कहा नहीं जा सकता। यों इस आइपीएल में खराब फार्म से जूझ रही दो टीमों के बीच मुकाबला रोमांचक होने की उम्मीद है। देखना यह है कि बाजी किस के हाथ लगती है।

Next Stories
1 IPL-8: केकेआर ने सुपरकिंग्स को हराया
2 मोहम्मद हफीज के पहले दोहरे शतक ने दिलायी पाक को बढ़त
3 IPL-8: रॉयल चैलेंजर्स से हिसाब बराबर करने उतरेगी राजस्थान रॉयल्स
ये पढ़ा क्या?
X