Daniel Vettori quits international cricket - Jansatta
ताज़ा खबर
 

डेनियल विटोरी ने कहा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को ‘अलविदा’

न्यूजीलैंड के दिग्गज स्पिन गेंदबाज डेनियल विटोरी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा मंगलवार को कर दी. विटोरी ने कहा कि रविवार को आस्ट्रेलिया के साथ आईसीसी विश्व कप-2015 का फाइनल उनके करियर का आखिरी मैच रहा. न्यूजीलैंड की टीम मंगलवार को ऑकलैंड पहुंची. ऑकलैंड हवाई अड्डे पर ही 36 वर्षीय विटोरी ने पत्रकारों […]

Author March 31, 2015 1:47 PM
डेनियल विटोरी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा (फोटो: एपी)

न्यूजीलैंड के दिग्गज स्पिन गेंदबाज डेनियल विटोरी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा मंगलवार को कर दी. विटोरी ने कहा कि रविवार को आस्ट्रेलिया के साथ आईसीसी विश्व कप-2015 का फाइनल उनके करियर का आखिरी मैच रहा. न्यूजीलैंड की टीम मंगलवार को ऑकलैंड पहुंची.

ऑकलैंड हवाई अड्डे पर ही 36 वर्षीय विटोरी ने पत्रकारों से बात करते हुए अपने संन्यास की घोषणा की. विटोरी ने कहा, “आस्ट्रेलिया के साथ विश्व कप फाइनल मेरा आखिरी मैच रहा. अपने करियर को खत्म करने का यह अच्छा अवसर है. अगर हम जीत हासिल करते तो और अच्छा होता लेकिन इसके बावजूद पिछले छह हफ्ते के प्रदर्शन से हम खुश हैं.”

न्यूजीलैंड को विश्व कप फाइनल में सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा. विटोरी का फैसला हालांकि बहुत चौंकाने वाला नहीं माना जा रहा और इसकी संभावना पहले से व्यक्त की जा रही थी. विटोरी टेस्ट और एकदिवसीय दोनों ही प्रारूपों में न्यूजीलैंड की ओर से सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं.

हरफनमौला खिलाड़ी के रूप में अपनी पहचान बनाने वाले विटोरी ने करियर में 113 टेस्ट खेले और 362 विकेट हासिल किए. साथ ही 4531 रन भी उनके खाते में शामिल हैं. कपिल देव और इंग्लैंड के इयान बॉथम के बाद विटोरी तीसरे ऐसे टेस्ट खिलाड़ी हैं जिनके नाम 300 से ज्यादा टेस्ट विकेट और 4000 से ज्यादा रन हैं.

विटोरी का यह जलवा एकदिवसीय प्रारूप में भी कायम रहा और उन्होंने 295 मैचों में 305 विकेट चटकाए. वह पांच विश्व कप में न्यूजीलैंड टीम के सदस्य रहे. इंग्लैंड में आयोजित विश्व कप-1999 में उन्होंने कोई मैच नहीं खेला, लेकिन इसके बाद 2003 से 2015 तक के विश्व कप में उन्होंने 32 मैच खेले और 36 विकेट हासिल किए.

इसमें 15 विकेट उन्होंने इसी विश्व कप में चटकाए. विटोरी ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत 18 साल की उम्र में फरवरी-1997 में इंग्लैंड के खिलाफ की थी और कीवी टीम से जुड़ने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने. इसके एक महीने बाद ही उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ मैच से अपने एकदिवसीय करियर का भी आगाज किया.

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App