CSK, IPL 2018 Time Table, Schedule, Team List Players, Full Squad: Mahendra Singh Dhoni is the Main Reason behind Chennai Super Kings Win Close Matches says Deepak Chahar - IPL 2018: SRH के खिलाफ जीत के हीरो दीपक चहर ने बताया, इस खिलाड़ी के चलते करीबी मैचों में जीतती है CSK - Jansatta
ताज़ा खबर
 

IPL 2018: SRH के खिलाफ जीत के हीरो दीपक चहर ने बताया, इस खिलाड़ी के चलते करीबी मैचों में जीतती है CSK

IPL 2018: रविवार को चेन्नई-हैदराबाद सनराइजर्स का मुकाबला हुआ। चेन्नई ने 20 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर 182 रन बनाए थे, जबकि जवाबी पारी में हैदराबाद सिर्फ 178 रन ही बना सकी थी। सीएसके ने यह मैच चार रनों से अपने नाम किया था। चहर ने सीएसके की ओर से चार ओवरों में 15 रन देकर तीन विकेट झटके थे।

राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में मैच के बाद हरभजन सिंह को इंटरव्यू देते दीपक चहर। (फोटोः IPL)

चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) रविवार (22 अप्रैल) को हैदराबाद सनराइजर्स के खिलाफ शानदार फॉर्म में नजर आई। कांटे की टक्कर वाले इस मुकाबले में बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी में छाई। टीम ने इसी की बदौलत यह मुकाबला अपने नाम किया। ऐसे में चेन्नई टी-20 टूर्नामेंट की अंक तालिका में पहले पायदान पर आ गई है। सीएसके इसी तरह पहले भी कुछ करीबी मुकाबलों में जीती है। ऐसा कैसे होता है और किसकी वजह से होता है? इन सवालों का जवाब मैच में जीत के हीरो रहे दीपक चहर ने दिया। उन्होंने करीबी मुकाबलों में जीत के पीछे एक खास खिलाड़ी को वजह बताया है।

आपको बता दें कि रविवार को हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में सीएसके और हैदराबाद सनराइजर्स का मुकाबला हुआ था। हैदराबाद ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी की थी। चेन्नई ने 20 ओवरों में तीन विकेट के नुकसान पर 182 रन बनाए थे, जबकि जवाबी पारी में हैदराबाद सिर्फ 178 रन ही बना सकी थी। सीएसके ने यह मैच चार रनों से अपने नाम किया था। चहर ने सीएसके की ओर से चार ओवरों में 15 रन देकर तीन विकेट झटके थे।

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी। (फोटोः फेसबुक)

उनका मानना है कि चेन्नई की टीम करीबी मैचों में एक खास खिलाड़ी के कारण जीतती है। यह खिलाड़ी कोई और नहीं, बल्कि टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हैं। चहर ने इस बाबत कहा, “करीबी मैचों में जीत हासिल कर हम गर्व के साथ अच्छा महसूस करते हैं। ऐसे मुकाबले हम इसलिए जीतते हैं, क्योंकि हमारे पास धोनी हैं। मुश्किल दौर में उनकी सलाह काम आती हैं। खासकर तब जब केन विलियमसन और यूसुफ पठान बल्लेबाजी कर रहे थे।”

183 रनों के लक्ष्य के मद्देनजर मैच में एक पल को हैदराबाद की हालात काफी मजबूत नजर आ रही थी। विलियमसन और पठान ने तब 79 रनों की साझेदारी जमाई थी। लेकिन उनके आउट होने के बाद टीम का हश्र कुछ और ही हुआ। मैच में अपने प्रदर्शन पर वह आगे बोले, “मुझे इस पिच पर गेंदबाजी कर के मजा आया। यहां पर गेंद काफी उछाल और स्विंग खा रही थी। मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App