एमएस धोनी के स्पिनर ने टी20 वर्ल्ड कप टीम में नहीं चुने जाने का ठीकरा हेड कोच पर फोड़ा, कहा- संन्यास नहीं लूंगा 50 साल तक खेलूंगा

दक्षिण अफ्रीका की टी-20 टीम में नहीं चुने जाने के बाद दिग्गज स्पिनर इमरान ताहिर काफी दुखी नजर आए। इंटरव्यू में उन्होंने अपने ही बोर्ड के खिलाफ कुछ बातें बोलते हुए अपना दुख जाहिर किया और कहा कि उनसे ग्रीम स्मिथ ने वादा किया था। लेकिन मार्क बाउचर के कोच बनते ही सबने जवाब देना बंद कर दिया।

csk-bowler-imran-tahir-expressed-sadness-against-cricket-south-africa-for-not-selecting-in-t20-world-cup-team
एमएस धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स के स्पिनर को टी20 वर्ल्ड कप के लिए अपनी राष्ट्रीय टीम में जगह नहीं मिली है (Source: PTI)

टी20 वर्ल्ड कप के लिए दक्षिण अफ्रीका की टीम का ऐलान हो गया है। टीम के चयन के बाद वरिष्ठ लेग स्पिनर इमरान ताहिर खासा निराश नजर आए। लंबे समय से टी20 क्रिकेट में कड़ी मेहनत कर रहे ताहिर को टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में जगह नहीं मिली। जिसके बाद उन्होंने अपना दुख व्यक्त करते हुए बताया कि क्रिकेट साउथ अफ्रीका के डायरेक्टर ग्रीम स्मिथ ने उनसे टीम में खिलाने का वादा किया था लेकिन मार्क बाउचर के कोच बनने के बाद कोई उन्हें रिप्लाई तक नहीं करता है।

10 साल तक दक्षिण अफ्रीका के लिए अपनी सेवा देने वाले इमरान ताहिर ने आईओएल गुयाना को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि,’ग्रीम स्मिथ ने मुझसे वादा किया था कि मैं चाहता हूं कि आप टी20 वर्ल्ड कप में खेले। जिसके जवाब में मैंने उनसे कहा था कि बिल्कुल मैं उपलब्ध हूं और कड़ी मेहनत करूंगा।’

सीएसके के स्टार स्पिनर ने आगे कहा कि, ‘कुछ महीनों बाद मैंने जब स्मिथ और मार्क बाउचर को मैसेज किया तो कोई रिप्लाई नहीं आया। जबसे बाउचर कोच बने हैं तब से किसी ने भी मुझसे कोई कॉन्टैक्ट नहीं किया। ये दुख की बात है। मैं लगातार कड़ी मेहनत कर रहा हूं। पिछले कुछ समय में सभी लीग के दौरान मेरा परफॉर्मेंस देखिए। मैंने 10 साल देश के लिए क्रिकेट खेला है। मैं थोड़ी इज्जत का हकदार हूं ना कि जैसा ये लोग सोचते हैं कि मैं बेकार हूं।’

मूलरूप से पाकिस्तान में जन्मे ताहिर ने आगे कहा कि,’मैं दक्षिण अफ्रीका के लोगों को अपनी कहानी बताना चाहता हूं कि मैंने पूरे दिल से देश के लिए खेला है। आप लोग मुझे दक्षिण अफ्रीका का मानो या ना मानो लेकिन मैं साउथ अफ्रिकन हूं। मेरी पत्नी साउथ अफ्रिकन है और मेरा परिवार भी साउथ अफ्रिकन है। मेरा बच्चा भी साउथ अफ्रीका में पैदा हुआ है और मेरा सपना है देश के लिए वर्ल्ड कप जीतना।’

50 साल तक खेलता रहूंगा

42 वर्षीय ताहिर ने कहा कि,’मैं वर्ल्ड कप जीतकर देश का धन्यवाद करना चाहता हूं कि जो मुझे मौका यहां आके मिला। मैं रिटायरमेंट की नहीं सोच रहा। अगर जरूरत पड़ी तो मैं 50 साल तक खेलता रहूंगा।’

उन्होंने एक ट्वीट भी किया और लिखा कि,’मेरा सबसे बड़ा जुनून रहा है कि मैं उस देश (दक्षिण अफ्रीका) का प्रतिनिधित्व करूं जहां मुझे अपने सपनों को पूरा करने का मौका मिला है। मैंने टी20 से कभी रिटायरमेंट की घोषणा नहीं की और मैं आज भी दक्षिण अफ्रीका के लिए पूरी तरह न्यौछावर हूं। दुखी हूं इस वर्ल्ड कप में मौका नहीं मिला। मैं अगले वर्ल्ड कप के लिए तैयारी करूंगा।’

इमरान ताहिर ने 2011 में सबसे पहली बार दक्षिण अफ्रीका के लिए कोई मैच खेला था। उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ दिल्ली के तत्कालीन फिरोजशाह कोटला (अब अरुण जेटली स्टेडियम) में डेब्या का मौका मिला था। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए 20 टेस्ट में 57, 107 वनडे में 173 और 38 टी20 में 63 विकेट अपने नाम किए हैं। इसके अलावा आईपीएल में भी उन्होंने 59 मुकाबलों में 82 विकेट झटके हैं।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट