ताज़ा खबर
 

सुरेश रैना ने निर्धन माताओं के लिए शुरु किया फाउंडेशन, लंबे वक्त से इस पर काम रही थीं पत्नी प्रियंका

भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने देश की निर्धन माताओं की मदद के लिये एक फाउंडेशन शुरू किया है ।

भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने देश की निर्धन माताओं की मदद के लिये एक फाउंडेशन शुरू किया है ।

भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने देश की निर्धन माताओं की मदद के लिये एक फाउंडेशन शुरू किया है । रैना और उनकी पत्नी प्रियंका ने अपनी बेटी ग्रेशिया के जन्मदिन पर यह ऐलान किया ।  रैना ने कहा ,‘‘ यह हमारे लिये बहुत खास है और अपनी बेटी के जन्मदिन पर इसका ऐलान करना और भी खास है । मेरी पत्नी इस पर काम कर रही थी और उसने काफी प्रयास किया है । मैं पूरी तरह से उसकी इस पहल के साथ हूं ।
उन्होंने कहा ,‘‘ इस फाउंडेशन के जरिये हम महिलाओं और बच्चों के जीवन में उजाले की किरण लेकर आयेंगे । हालांकि आपको ये भी बता दें हमारे भारतीय क्रिकेटर्स में न सिर्फ सुरैश रैना असहाय और निर्धन लोगों की मदद के लिए उतरे हैं बल्कि युवराज सिंह और गौतम गंभीर पहले से ऐसे बच्चों के लिए काफी कुछ कर रहे हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले छत्तीसगड़ के सुकमा में शहीद हुए जवानों के लिए जहां एक ओर अभिनेता अक्षय कुमार ने अपने सोशल साइट के जरिए लोगों से जवानों के परिजनों की मदद करने की अपील की है तो वहीं दूसरी ओर भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर भी इस काम में आगे आए हैं। गौतम गंभीर ने कहा सुकमा में शहीद हुए 25 जवानों के परिवार की पूरी सहायता करेंगे। आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तना गौतम गंभीर ने इन जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने की पेशकश की है। उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स के एक कॉलम में लिखकर कहा था कि वे सुकमा में शहीद हुए 25 CRPF जवानों के बच्चों की जिम्मेदारी अपने कंधों पर लेने को तैयार हैं।

मदद के ऐलान के बाद गौतम गंभीर ने भी ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘गौतम गंभीर फाउंडेशन शहीद हुए सभी सैनिकों के बच्चों की पढ़ाई का पूरा खर्च वहन करेगा।’ गंभीर ने आगे लिखा कि उन्होंने यह फैसला शहीद हुए जवानों के परिवार की तस्वीरें देखकर लिया। उन्होंने यह भी लिखा कि देश के लिए अपनों को खो देना और क्रिकेट मैच हार जाना दोनों अलग-अलग चीजें हैं और दोनों की कभी तुलना नहीं की जा सकती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App