ताज़ा खबर
 

एमसीसी के मानद आजीवन सदस्य बनाए गए पूर्व तेज़ गेंदबाज़ ज़हीर खान

पिछले महीने वीरेंद्र सहवाग को भी मानद आजीवन सदस्य बनाया गया था। इस सूची में सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर भी हैं जिन्हें पिछले साल इसमें शामिल किया गया था।
Author लंदन | September 2, 2016 21:37 pm
बायें हाथ के तेज गेंदबाज जहीर खान । (फाइल पोटो एपी/पीटीआई)

पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान को मेर्लबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) का मानद आजीवन सदस्य बनाया गया है। वह यह सम्मान पाने वाले 24वें भारतीय क्रिकेटर हैं। क्लब ने बयान में कहा, ‘एमसीसी ने जहीर खान को क्लब का मानद आजीवन सदस्य बनाया है।’ जहीर पिछले कुछ सप्ताह में यह सम्मान पाने वाले दूसरे भारतीय हैं। पिछले महीने वीरेंद्र सहवाग को भी मानद आजीवन सदस्य बनाया गया था। इस सूची में सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर भी हैं जिन्हें पिछले साल इसमें शामिल किया गया था।

जहीर ने भारत के लिए 92 टेस्ट मैच खेले तथा 32 . 94 की औसत से 311 विकेट लिए। इसके अलावा 37 वर्षीय जहीर ने 200 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 29.34 की औसत से 282 विकेट लिए। उन्होंने लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर तीन टेस्ट मैच खेले और 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ ड्रा टेस्ट मैच में 79 रन पर चार विकेट लेने से मामूली अंतर से लार्ड्स की सम्मान पट्टिका में जगह बनाने से चूक गए थे।

जहीर ने लॉर्ड्स में तीन वनडे भी खेले हैं जिनमें 2002 नेटवेस्ट सीरीज का मशहूर फाइनल भी है जिसमें उन्होंने 62 रन देकर तीन विकेट लिए थे। जहीर ने 2015 में अंतरराष्ट्रीय और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास ले लिया था लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग में उनकी अब भी काफी मांग है जिसमें वह दिल्ली डेयरडेविल्स, मुंबई इंडियन्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की तरफ से खेल चुके हैं।

एमसीसी के क्रिकेट प्रमुख जॉन स्टीफनसन ने कहा, ‘जहीर खान ने भारत में क्रिकेट को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है और वह उसकी सफल टीम का कई वर्षों तक अहम हिस्सा रहे। इस वजह से क्लब उन्हें मानद आजीवन सदस्यता देकर बहुत खुश है।’ उन्होंने कहा, ‘जब भी वह लॉर्ड्स पर खेलते थे तो उन्हें देखने में आनंद आता था और हम एमसीसी सदस्य के रूप में उन्हें फिर से यहां देखना चाहते हैं।’ एमसीसी की आजीवन सदस्यता क्रिकेट और इस खेल से जुड़े कामों में लंबे समय तक योगदान देने वाले व्यक्तियों को दी जाती है। अब एमसीसी के कुल 18,000 सदस्यों में से 300 से अधिक मानद आजीवन सदस्य हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.