ताज़ा खबर
 

जब युनूस खान ने मांगी थी राहुल द्रविड़ से मदद, ‘द वॉल’ ने यूं कर दिया हैरान

यूनुस खान के अलावा इस प्रोग्राम में भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान मोहम्‍मद अजहरुद्दीन भी मौजूद थे। अजहरुद्दीन ने कहा, “टीम इंडिय के लीजेंड सुनील गावस्‍कर का रिकॉर्ड इंग्‍लैंड में शानदार रहा है। भारतीय खिलाड़ी अगर चाहते तो उनसे काफी कुछ सीख सकते थे, लेकिन उन्होंने इस मौके को गंवा दिया। भारतीय युवा बल्‍लेबाजों को क्रिकेट लीजेंड के पास खुद जाकर सलाह लेनी चाहिए।''

राहुल द्रविड़ और युनूस खान।

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट और वनडे सीरीज गंवाने के बाद भारतीय टीम की नजरें अब एशिया कप पर होगी। विराट कोहली की कप्तानी में फैन्स को उम्मीद थी कि इस बार भारत इंग्लैंड में हार के सिलसिले को तोड़ेगी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। भारत के मुकाबले पाकिस्तान की टीम का रिकॉर्ड इंग्लैंड में बेहतर रहा है। इंडिया टुडे के प्रोग्राम में एंकर ने पाकिस्‍तान के पूर्व खिलाड़ी यूनुस खान से इस बारे में बात की। इस प्रोग्राम के दौरान इंग्‍लैंड में भारत को 1-4 से मिली हार पर चर्चा की जा रही थी। एंकर ने यूनुस खान से इसके पीछे की वजह जानने की कोशिश की। यूनुस खान ने कहा, ”इंग्लैंड में पाकिस्तान का रिकॉर्ड बेहतर टीम के लेग स्पिनर्स की वजह से है। इस साल भी लेग स्पिनर यासिर शाह ने लॉर्ड्स के मैदान पर पांच विकेट हासिल किया था। इंग्लैंड के बल्लेबाजों को रोकने के लिए पाकिस्तान के पास हमेशा से ही लेग स्पिन के अहम हथियार रहा है। भारत के युवा क्रिकेटर्स को इन मामलों को लेकर पूर्व क्रिकेटरों के साथ अधिक से अधिक बात करनी चाहिए।”

पूर्व क्रिकेटर राहुल द्रविड़ (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

यूनुस खान ने साल 2004 का किस्सा याद करते हुए कहा, ”मुझे आज भी याद है कि 2004 में मैने बल्‍लेबाजी को लेकर राहुल द्रविड़ से मदद मांगी थी। इसमें कोई बुराई नहीं है, अगर हम किसी से कुछ सीखना चाहते हैं तो हमें बिल्कुल भी संकोच नहीं करना चाहिए। मैने राहुल द्रविड़ से पांच मिनट मांगे थे। मैं ये देखकर हैरान रह गया था कि वो खुद ही मेरे कमरे में आए और बिना किसी हिचक के मुझे सभी चीजों को अच्छे से समझाया। उनकी सिखाई गई चीजों को मैंने फॉलो करना शुरू किया, जिससे मुझे आने वाले मैचों में काफी फायदा मिला।”

यूनुस खान के अलावा इस प्रोग्राम में भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान मोहम्‍मद अजहरुद्दीन भी मौजूद थे। अजहरुद्दीन ने कहा, “टीम इंडिय के लीजेंड सुनील गावस्‍कर का रिकॉर्ड इंग्‍लैंड में शानदार रहा है। भारतीय खिलाड़ी अगर चाहते तो उनसे काफी कुछ सीख सकते थे, लेकिन उन्होंने इस मौके को गंवा दिया। भारतीय युवा बल्‍लेबाजों को क्रिकेट लीजेंड के पास खुद जाकर सलाह लेनी चाहिए।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 युवराज को मिला वनडे खेलने का मौका, इंतजार करते रह गए हरभजन सिंह
2 Asia Cup 2018 : इन दोनों खिलाड़ी की वापसी से खुश हैं कप्तान रोहित शर्मा, मैच से पहले कही ये बात
3 Sri Lanka vs Afghanistan, Asia Cup 2018: अफगानिस्तान 91 रनों से जीता, श्रीलंका एशिया कप से बाहर