ताज़ा खबर
 

चयनकर्ताओं के विश्वास पर खरे उतरे रिद्धिमान साहा, पुजारा के साथ मिलकर रचा नया कीर्तिमान

साहा ने इसी साल बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए एकलौते टेस्ट मैच में भी नाबाद 106 रन की पारी खेली थी। इससे पहले इस टीम इंडिया के इस विकेटकीपर ने पिछले साल वेस्टइंडीज़ के खिलाफ अपना पहला शतक जमाया था।

रांची टेस्ट मैच में शतकीय पारी खेलने के बाद चेतेश्वर पुजारा के साथ खुशी बांटते रिद्धिमान साहा।(Photo: PTI)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट के चौथे दिन टीम इंडिया ने जोरदार वापसी की। विपरित परिस्थितियों का सामना करते हुए टीम इंडिया के बल्लेबाजों चेतेश्वर पुजारा और रिद्धिमान साहा ने दोहरा शतक और शतक ठोंककर न सिर्फ टीम को संकट से उबारा बल्कि ऑस्ट्रेलिया पर अहम बढ़त भी बना ली। साहा ने चौथे टी सेशन के ठीक बाद 188.1 ओवर में मैक्सवेल की गेंद पर एक रन लेते हुए अपना शतक पूरा किया। 214 गेंदों में खेली गई अपनी इस पारी के दौरान साहा ने 7 चौके और 1 छक्का भी लगाया। साहा ने इसी साल बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए एकलौते टेस्ट मैच में भी नाबाद 106 रन की पारी खेली थी। इससे पहले इस टीम इंडिया के इस विकेटकीपर ने पिछले साल वेस्टइंडीज़ के खिलाफ अपना पहला शतक जमाया था।

मैच के तीसरे दिन साहा उस वक्त मैदान पर उतरे थे जब टीम इंडिया संकट में थी। एक छोर पर चेतेश्वर पुजारा जमे हुए थे तो दूसरी ओर कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर टिक नहीं पा रहा था। टीम इंडिया ने अपने 6 विकेट महज 328 रनों पर खो दिए थे। उस पर ऑलआउट होने का खतरा मंडरा रहा था। जिसके बाद विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा क्रीज पर उतरे। साहा ने सूझ-बुझ का परिचय देते हुए पुजाारा का बखूबी साथ निभाया। रविवार को मैच के चौथे दिन भी साहा ने कंगारू गेंदबाजों का डटकर सामना किया। विकेटों के बीच तेज रन दौड़े तो जरूरत पड़ने पर बड़े शॉट लगाकर दबाव भी दूर करने का काम किया। ​रिद्धिमान साहा ने अपनी इस पारी से चयनकर्ताओं का विश्वास भी कायम रखा, जिन्होंने उन्हें पार्थिव पटेल के उपर तरजीह देते हुए टीम में शामिल किया था।

चेतेश्वर पुजारा और रिद्धिमान साहा की जोड़ी ने रांची टेस्ट में नया इतिहास रच दिया है। मैच के चौथे दिन इन दोनों ने भारत की तरफ से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सातवें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का नया रिकॉर्ड बनाया। इन दोनों ने सातवें विकेट के लिए 199 रन जोड़े। ये जोड़ी पुजारा के 202 रन बनाकर आउट होने पर भारत के 527 रन के स्कोर पर टूटी। लेकिन आउट होने से पहले पुजारा-साहा ने सातवें विकेट की साझेदारी में 199 रन की रिकॉर्ड साझेदारी की। इस बीच चौथे दिन पुजारा ने अपने करियर का तीसरा दोहरा शतक जमाया जबकि साहा ने अपने करियर का तीसरा शतक ठोका। पुजारा 202 और साहा 117 रन बनाकर आउट हुए। इन दोनों की साझेदारी की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया के 451 रन का जोरदार जवाब देते हुए ऑस्ट्रेलिया पर 152 रनों की अहम बढ़त हासिल कर ली।

वीडियो: भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच टॉप 5 स्लेजिंग मोमेंट्स

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App