ताज़ा खबर
 

VIDEO: कैफ से सचिन तेंदुलकर ने क्‍यों कहा- जेम्‍स एंडरसन मुझे तकलीफ देता है

एंकर ने कैफ से पूछा कि कितना मुश्किल है जब एंडरसन एंगल बनाते हैं, उसके बाद उनकी गेंद आउट स्विंग होती है। इससे बल्लेबाजों को कितनी परेशानी होती है?

मोहम्मद कैफ (फोटो सोर्स वीडियो स्क्रीन शॉट)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद कैफ ने महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर और इंग्लिश गेंदबाज जेम्स एंडरसन से जुड़ा एक पुराना किस्सा साझा किया है। दरअसल वर्तमान में भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज चल रही है। इसमें भारत 2-0 से पीछे चल रहा है। जहां शुरुआती दो टेस्ट मैचों में भारत का कोई गेंदबाज कोई खास कमाल नहीं कर पाया वहीं इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन की कहर बरपाती गेंदबाजी ने भारत के ज्यादातर बल्लेबाजों को धराशाई कर दिया। इसपर स्पोर्ट्स एंकर ने जेम्स एंडरसन की धारदार गेंदबाजी पर मोहम्मद कैफ की राय जाननी चाही।

एंकर ने पूछा कि कितना मुश्किल है जब एंडरसन एंगल बनाते हैं, उसके बाद उनकी गेंद आउट स्विंग होती है। इससे बल्लेबाजों को कितनी परेशानी होती है? इसपर कैफ ने कहा, ‘इतना लंब सफर तय करते हैं तो लोग आपकी आलोचना भी करते हैं। जब एंडरसन लय में नहीं थे तब इंग्लैंड की मीडिया ने भी उनकी खासी आलोचना की। कहा गया एंडरसन पहली गेंद हमेशा बल्लेबाज के मुंह पर डालते हैं और बल्लेबाज कवर पर चौका मार देता है। आरोप लगा की एंडरसन हमेशा ऐसा ही करते हैं।’

कैफ के मुताबिक एंडरसन अभी भी ऐसा ही कर रहे हैं, क्योंकि उनका मानना है कि वो स्विंग गेंदबाज हैं। और यही उनकी लाइन और लैंथ है। इसमें उन्होंने थोड़ा फाइन ट्यून किया है लेकिन लाइन उन्होंने अभी भी वही रखी है। आज इतने बड़े गेंदबाज बन गए क्योंकि उन्हें अपनी ताकत पर भरोसा है।

इस दौरान सचिन का जिक्र करते हुए कैफ ने कहा, ‘एक बार सचिन तेंडुलकर ने मुझेस खुद कहा था कि ये गेंदबाज (एंडरसन) ऐसा है जो उन्हें परेशान करता है। ये सचिन के शब्द थे। इंडिया में टेस्ट मैच था और एंडरसन ने सचिन को वानखेड़े में आउट किया। तब सचिन ने आकर कहा कि ये गेंदबाज ऐसा है जो उन्हें तकलीफ देता है। ये एक महान बल्लेबाज के शब्द थे। जिन्हें भारत की जमीन पर आकर आउट किया गया। इसलिए लोगों की आलोचना जरूरी है लेकिन कैसे वापसी की जाती है वो करके दिखाया है एंडरसन ने।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App