ताज़ा खबर
 

वीडियो: जब गेंद के लिए ‘टॉम एंड जेरी’ की तरह लड़ने लगे स्टीव स्मिथ और साहा, मैदान में गूंज उठे ठहाके

इससे पहले बतौर मेहमान कप्तान वेस्टइंडीज़ के क्लायव लॉयड ने दो और इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक ने भारत में भारतीय टीम के खिलाफ एक टेस्ट सीरीज़ में तीन शतक जमाए थे। लेकिन स्मिथ ऑस्ट्रेलिया की तरफ से ऐसा करने वाले पहले कप्तान बन गए हैं।

रिद्धिमान साहा और स्टीव स्मिथ रांची टेस्ट के पहले दिन गेंद पर कब्जा करने के चक्कर में उलझकर गिर गए।(Photo; PTI)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रांची में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने दमदार पारी खेलते हुए शतक अपने टेस्ट करियर का 19वां शतक जमाया। भारतीय टीम के खिलाफ खेलते हुए स्टीव स्मिथ का ये छठा टेस्ट शतक है। स्मिथ ने अपना शतक पूरा करने के लिए 227 गेंदों का सामना किया, जिसमें 11 चौके शामिल रहे। पहले दिन की खेल की समाप्ति पर स्टीव स्मिथ 117 और ग्लेन मैक्सवेल 82 रन बनाकर नाबाद रहे। वर्तमान भारतीय दौरे पर स्टीव स्मिथ का ये दूसरा शतक है। इससे पहले पुणे टेस्ट मैच में भी स्मिथ ने शतक जमाया था। स्टीव जब अपने शतक से 3 रन दूर थे तब एक बहुत ही मजाकिया घटना घटित हुई। रवींद्र जडेजा गेंदबाजी कर रहे थे। उनकी एक गेंद को स्टीव स्मिथ ने सुरक्षात्मक तरीके से खेला और गेंद उनके बल्ले से लगने के बाद उनके पैरों के बीच में फंसी रह गई। गेंद ने जमींन नहीं छुआ था।

विकेटकीपर रिद्धिमान साहा यह देख रहे थे। वो जल्दी से स्टीव स्मिथ के पास आए और झुककर उनके पैरों के बीच से गेंद निकालने की कोशिश करने लगे। अंपायर और क्षेत्ररक्षण कर रहे भारतीय खिलडियों को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि साहा अचानक स्टीव स्मिथ के पैरों के बीच क्या खोजने लगे। स्मिथ भी एक बार नहीं समझ पाए। अचानक उन्हें बात मामला समझ में आया और वो गेंद को पैरों के बीच फंसाकर जमीन पर लेट गए। साहा उनके उपर ही लेट गए और गेंद को निकाल कर आउट की अपील करने लगे। अंपायर यह देखकर जोर जोर से हंस रहे थे। भारतीय खिलाड़ी भी हंसने लगे। अंपायर ने इस अपील को नकार दिया। कुछ देर के लिए कमेंटेटर्स सहित मैदान पर मौजूद खिलाड़ी और अंपायर साहा और स्टीव स्मिथ के बीच इस छिना छपटी पर अपनी हंसी नहीं रोक पा रहे थे।

रांची के मैदान पर खेला जा रहा ये पहला टेस्ट मैच है। इस मैदान पर टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहला शतक जमाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के नाम दर्ज़ हो गया है। इस मैदान पर भविष्य में और भी बल्लेबाज़ शतक जमाएंगे, लेकिन इस ग्राउंड में पहला टेस्ट शतक जमाने का रिकॉर्ड तो स्टीव स्मिथ के नाम पर ही रहेगा और उनकी ये उपलब्धि अब उनसे कोई नहीं छीन पाएगा। इससे पहले बतौर मेहमान कप्तान वेस्टइंडीज़ के क्लायव लॉयड ने दो और इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक ने भारत में भारतीय टीम के खिलाफ एक टेस्ट सीरीज़ में तीन शतक जमाए थे। लेकिन स्मिथ ऑस्ट्रेलिया की तरफ से ऐसा करने वाले पहले कप्तान बन गए हैं। स्मिथ ने भले ही रांची में खेले जा रहे टेस्ट मैच में शतक जमाया हो। लेकिन उनका ये शतक उनकी धीमी बल्लेबाज़ी के लिए याद किया जाएगा। अपनी इस पारी में शतक जमाने के लिए स्मिथ ने सबसे ज़्यादा 227 गेंदों का सामना किया। इससे पहले लगाए गए सभी 18 शतक बनाने के लिए स्मिथ ने कभी भी इतनी गेंदे नहीं खेली थी।

इस टीम को केविन पीटरसन की सलाह, ' स्पिन खेलना सीखो वरना भारत को दौरा रद्द कर दो'

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App