virendra sehwag interview talked about coach, india pak final and many more things - Jansatta
ताज़ा खबर
 

Interview: जब वीरेंद्र सहवाग से नाराज हुए सौरभ गांगुली, बोले- तुम सुन भी रहे हो या नहीं

इस बात सहवाग ने कहा कि गांगुली बतौर कप्तान उन्हें समझाते थे कि क्या सही है, किस गति से खेलना है। तो वहीं सचिन जंगल में शेर की तरह खेलते थे जिससे सहवाग का काम आसान हो जाता था।

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग।

वीरेंद्र सहवाग ने मैदान पर बल्ला चलाना भले ही छोड़ दिया हो लेकिन सुर्खियों में रहना नहीं छोड़ा है। वीरू मैदान से बाहर ट्विटर पर अपनी अलग भाषा और पाकिस्तान को  निशाना बनाने  के कारण छाए हुए हैं। पिछले दिनो पाकिस्तान को बेटा और हिंदुस्तान को बाप कहने पार पाकिस्तानी क्रिकेट राशिद लतीफ भड़क गए थे। उसी तरह बांग्लादेश के हारने पर दादा पोता वाली बात भी कम सुर्खियों में नहीं रहा। अब एक इंटरव्यू सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियों में सहवाग इंटरव्यू दे रहे हैं। इंटरव्यू के दौरान भारतीय क्रिकेट  टीम के कोच बनने के लिए दो लाइन के रिज्यूम से लेकर, उनकी पसंद के कौच, कुंबले-विराट के झगड़े पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खस्ता हाल पर खुल कर सहवाग ने अपनी बात रखी है। सहवाग से जब पूछा गया कि उन्हें सचिन और गांगुली में से किसके साथ पारी की शुरूआत करने में मजा आता था। इस बात सहवाग ने कहा कि गांगुली बतौर कप्तान उन्हें समझाते थे कि क्या सही है, किस गति से खेलना है। तो वहीं सचिन जंगल में शेर की तरह  खेलते थे जिससे सहवाग का काम आसान हो जाता था।

सहवाग ने गैरी कर्स्टन को अपना सबसे पसंदीदा कोच, सचिन को पसंदीदा खिलाड़ी और सौरभ गांगुली को सबसे पसंदीदा कप्तान बताया है। इसी के साथ ही एक किस्से का जिक्र करते हुए सहवाग ने बताया कि एक मैच के दौरान उन्होंने चौका लगाया तो सौरभ ने उनसे कहा कि इस ओवर के रन आ गए हैं। आराम से खेलों लंबा खेलना है। इसके बाद सहवाग ने दूसरे चौका मारा तो गांगुली ने कहा दूसरे ओवर के भी रन आ गए हैं। आराम से खेलो, इसके बाद जब सहवाग ने एक और चौका मारा तो गांगुली ने कहा कि आप सुन भी रहे हो या नहीं। इसके आलावा भी इस इंटरव्यू में सहवाग ने कई मजेदार बातें बताई हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App