ताज़ा खबर
 

एक सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने के गावसकर का रेकार्ड तोड़ने में सफल रहेंगे कोहली : कोच

कोहली हालांकि 2014-15 के आस्ट्रेलियाई दौरे में इस जादुई आंकड़े के करीब पहुंचे थे।
Author नई दिल्ली | December 15, 2016 04:35 am
विराट कोहली ने मुंबई टेस्‍ट में दोहरा शतक लगाकर इतिहास रच दिया। (Photo:PTI)

विराट कोहली को किसी एक टैस्ट शृंखला में सर्वाधिक रन बनाने के सुनील गावसकर के 45 साल से चले आ रहे भारतीय रेकार्ड की बराबरी करने के लिए 134 रन की जरूरत है। उनके बचपन के कोच राजकुमार शर्मा को उम्मीद है कि यह स्टार बल्लेबाज इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में पांचवें और अंतिम टैस्ट क्रिकेट मैच में यह उपलब्धि हासिल करने में सफल रहेगा। कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ वर्तमान शृंखला में अब तक चार मैचों की सात पारियों में दो शतकों की मदद से 640 रन बनाए हैं और उनका औसत 128.00 है। गावसकर ने 1971 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ उसकी सरजमीं पर अपनी पदार्पण शृंखला में 774 रन बनाए थे। इसके बाद केवल एक बार कोई भारतीय बल्लेबाज एक शृंखला में 700 से अधिक रन बना पाया और वह स्वयं गावसकर थे। उन्होंने वेस्ट इंडीज के खिलाफ ही 1978-79 में घरेलू धरती पर छह मैचों में 732 रन बनाए थे।

कोहली हालांकि 2014-15 के आस्ट्रेलियाई दौरे में इस जादुई आंकड़े के करीब पहुंचे थे। उन्होंने तब चार मैचों की आठ पारियों में चार शतकों की मदद से 692 रन बनाए थे। अब भारत के टैस्ट कप्तान के पास एक शृंखला में 700 से अधिक रन बनाने वाला दूसरा भारतीय और दुनिया का 24वां बल्लेबाज बनने और साथ ही गावसकर के 45 साल पुराने रेकार्ड तोड़ने का सुनहरा अवसर है। कोहली भले ही रेकार्ड पर ज्यादा गौर नहीं करते लेकिन उनके कोच राजकुमार शर्मा की दिली इच्छा है कि उनका शिष्य यह नया मुकाम हासिल करे। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि वह यह रेकार्ड बनाने में सफल रहेगा। उन्हें केवल 134 रन चाहिए और अभी दो पारियां खेलनी बाकी है। वह अभी जिस तरह की फार्म मे है उसे देखकर मुझे पूरी उम्मीद है कि वह इस रेकार्ड को तोड़ने में सफल रहेगा।

शर्मा ने कहा कि वह (कोहली) हालांकि रेकार्ड में विश्वास नहीं करता है और वह कभी रेकार्ड के लिए नहीं खेलता है। यहां तक कि उसे रेकार्ड के बारे में उसे पता भी नहीं होता है लेकिन अभी वर्षों पुराना रेकार्ड तोड़ने के लिए यह उनके पास सुनहरा अवसर है।टैस्ट क्रिकेट में अब तक 32 बार किसी बल्लेबाज ने एक शृंखला में 700 से अधिक रन बनाए और कोहली को इस मुकाम पर पहुंचने के लिए 66 रन की दरकार है। महान डान ब्रैडमन पांच, सर गैरी सोबर्स तीन तथा गावसकर, एवर्टन वीक्स और ब्रायन लारा दो-दो बार यह उपलब्धि हासिल कर चुके हैं।

भारत को अगला टैस्ट मैच 16 दिसंबर से चेन्नई के चेपक स्टेडियम में खेलना है जहां कोहली का रेकार्ड अच्छा रहा है। इस मैदान पर उन्होंने अब तक केवल एक टैस्ट मैच खेला है। आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2013 में खेले गए इस मैच की एकमात्र पारी में उन्होंने 107 रन बनाए थे। उन्होंने यहां जो दो रणजी मैच खेले हैं उनमें से 2010 में खेले गए मैच में कोहली ने 139 रन की लाजवाब पारी खेली है। कोहली ने इसके अलावा इस स्टेडियम में पांच वनडे भी खेले हैं जिनमें उन्होंने एक शतक और दो अर्धशतक लगाए हैं।कोहली ने मुंबई में खेले गए पिछले टैस्ट मैच में 235 रन की पारी खेली थी जिसे उनके कोच ने इस स्टार बल्लेबाज की अब तक सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक करार दिया। शर्मा ने कहा ति मैं तब वानखेड़े स्टेडियम में था और यह टैस्ट मैचों की उनकी सर्वश्रेष्ठ पारियों में एक है। एडिलेड में (2012 में खेली गई 116 रन की पारी) उन्होंने दबाव में शतक जमाया था लेकिन यहां भी परिस्थितियां काफी मुश्किल थी। इंग्लैंड ने पहली पारी में 400 रन बनाए थे और कोहली को तीसरे दिन पहले ओवर में ही क्रीज पर उतरना पड़ा था।

 

नोटबंदी के फैसले का विराट कोहली ने किया समर्थन, कहा- अब तक का सबसे बड़ा कदम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.