ताज़ा खबर
 

सिर्फ 7 टेस्ट सीरीज में ही भारतीय कप्तानों में सबसे आगे निकले विराट कोहली, बस रिकी पोटिंग से हैं पीछे

इस सीरीज जीत के साथ ही विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया। टीम इंडिया ने लगातार 7 टेस्ट सीरीज़ जीतने का रिकॉर्ड बना दिया।

Author धर्मशाला | March 28, 2017 2:36 PM
भारत के कप्तान विराट कोहली और धर्मशाला टेस्ट मैच में कार्यवाहक कप्तान की भूमिका निभाने वाले अजिंक्य रहाणे को बॉर्डर- गावस्कर ट्रॉफी भेंट करते भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर। (Photo: AP)

भारत ने आॅस्ट्रेलिया को चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से हराकर बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया। धर्मशाला में खेले गए टेस्ट सीरीज के आखिरी और निर्णायक मुकाबले में भारत ने आॅस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हरा दिया। मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय करने वाली आॅस्ट्रेलियाई टीम ने अपनी पहली पारी में 300 रन बनाए। जिसके जवाब में भारतीय टीम ने अपनी पहली पारी में 332 रन बनाए और इस तरह उसे 32 रन की बढ़त मिल गई। भारतीय गेंदबाजों ने आॅस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में 138 रन पर समेट दिया और इस प्रकार भारत को मैच जीतने के लिए 106 रन का छोटा लक्ष्य मिला, जिसे टीम इंडिया ने दो विकेट गंवाकर हासिल कर लिया।

इस सीरीज जीत के साथ ही विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया। टीम इंडिया ने लगातार 7 टेस्ट सीरीज़ जीतने का रिकॉर्ड बना दिया। इससे पहले टीम इंडिया ने विराट की कप्तानी में लगातार 6 टेस्ट सीरीज़ जीती थी और अब कंगारुओं को धर्मशाला में धोकर टीम इंडिया ने लगातार सीरीज़ जीतने के इस आंकड़े को 7-0 कर दिया। इससे पहले 2008-10 के बीच टीम इंडिया ने लगातार 5 टेस्ट सीरीज़ जीतने का रिकॉर्ड बनाया था। लेकिन बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज़ जीत कर विराट सेना ने इस रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया था और अब ऑस्ट्रेलिया को पस्त कर टीम इंडिया ने अपने इस रिकॉर्ड को और बेहतर कर लिया है।

भारत ने 2015 में श्रीलंका को उसी के घर में 2-1 से हराया था और उसके टेस्ट सीरीज जीत का सिलसिला वहीं से शुरू हुआ था। इस सीरीज के बाद भारत ने 2015 में ही द.अफ्रीका को अपने घर में 3-0 से हराया था। भारत ने 2016 में वेस्टइंडीज़ को उसी के घर में 2-0 से हराकर लगातार तीसरी टेस्ट सीरीज अपने नाम की थी। इसके बाद 2016-17 में न्यूज़ीलैंड को भारतीय सरजमीं पर हुए तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप का सामना करना पड़ा। भारत ने 2016 में ही इंग्लैंड की टीम को पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 4-0 से हराकर वापस भेजा। राजकोट में खेला गया पहला टेस्ट मैच ड्रा रहा था। इसके बाद 2017 में बांग्लादेश को भारत ने 1-0 से देकर लगातार अपनी छठी टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमाया। अब ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराकर भारत ने विराट कोहली की कप्तानी में लगातार 7वीं टेस्ट सीरीज जीतने का कारनामा कर दिया है।

विराट कोहली अगर अपनी कप्तानी में एक और टेस्ट सीरीज जीतते हैं, तो वह स्टीव वॉ को पीछे छोड़कर लगातार सबसे ज्यादा टेस्ट सीरीज जीतने वाले कप्तानों की सूची में दूसरे नंबर पर आ जाएंगे। स्टीव वॉ ने अपनी कप्तानी में आॅस्ट्रेलिया को लगातार 7 टेस्ट सीरीज में जीत दिलाई थी। वहीं, इस मामले में आॅस्ट्रेलिया के एक अन्य पूर्व कप्तान रिकी पोटिंग पहले नंबर पर हैं, उनके नेतृत्व में आॅस्ट्रेलिया ने लगातार 9 टेस्ट सीरीज जीतने का विश्व रिकॉर्ड बनाया है। अब देखना यह है कि क्या विराट कोहली भारत को अपने नेतृत्व में लगातार दस टेस्ट सीरीज में जीत दिलाकर रिकी पोटिंग का रिकॉर्ड तोड़ पाएंगे। यदि ऐसा होता है तो विराट भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बनने से पहले, कप्तानी का एक विश्व रिकॉर्ड जरूर अपने नाम कर लेंगे।

वीडियो: क्रिकेट के 5 ऐसे रिकॉर्डस्, जो कर देंगे आपको हैरान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App