ताज़ा खबर
 

विजय हजारे ट्रॉफी: 125 के स्कोर पर ही धोनी की झारखंड टीम ने हासिल की जीत, सौराष्ट्र को 42 रन से हराया

झारखंड के लिए वरुण आरोन और राहुल शुक्ला ने चार-चार विकेट हासिल किए।

Author कोलकाता | March 1, 2017 9:18 PM
तेज गेंदबाज वरुण आरोन। (फाइल फोटो)

महेंद्र सिंह धोनी की बेजोड़ कप्तानी और शानदार विकेटकीपिंग के साथ वरुण आरोन और राहुल शुक्ला के चार-चार विकेट के दम पर झारखंड ने विजय हजारे ट्रॉफी एकदिवसीय क्रिकेट टूर्नामेंट बुधवार (1 मार्च) को यहां अपने कम स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव करते हुए सौराष्ट्र को 42 रन से हराया। झारखंड की टीम ईडन गार्डन्स पर पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर युवा बल्लेबाज इशान किशन (53) के अर्धशतक के बावजूद केवल 27.3 ओवर में 125 रन पर ढेर हो गयी। धोनी 22 गेंदों पर 22 रन बनाकर दूसरे सफल बल्लेबाज रहे। सौराष्ट्र के मध्यम गति के गेंदबाजों शौर्य शांडिल्य (47 रन देकर पांच विकेट) और कुस्ताग पटेल (39 रन देकर चार विकेट) ने झारखंड की पारी को जल्दी समेटने में अहम भूमिका निभायी।

धोनी ने हालांकि अपनी टीम को हार नहीं मानने दी और सौराष्ट्र के लिये यह स्कोर ही पहाड़ जैसा बना दिया। सौराष्ट्र की टीम 25.1 ओवर में 83 रन पर ढेर हो गयी और झारखंड ने इस तरह से चार मैचों में अपनी तीसरी दर्ज की। इससे उसके 12 अंक हो गये हैं। सौराष्ट्र की यह लगातार चौथी हार है। धोनी ने न सिर्फ कप्तानी के अपने अनुभव का इस्तेमाल किया बल्कि शानदार विकेटकीपिंग भी की और चार कैच लपके। इस पूर्व भारतीय कप्तान ने अपने तेज गेंदबाजों का बखूबी इस्तेमाल किया। आरोन ने 20 रन देकर चार जबकि शुक्ला ने 32 रन देकर चार विकेट लिये। बायें हाथ के तेज गेंदबाज जसकरण सिंह भी 29 रन के एवज में दो विकेट लेकर अपने कप्तान की उम्मीदों पर खरे उतरे। झारखंड की तरह सौराष्ट्र के भी तीन बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे जिनमें शेल्डन जैकसन ने सर्वाधिक 20 रन बनाये।

मोहम्मद कैफ ने कहा-कोई सिर्फ प्रैक्टिस से एमएस धोनी नहीं बन सकता, वो टैलेंट के साथ ही जन्में हैं

महेंद्र सिंह धोनी को टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहे दो साल से ज्यादा का समय बीत चुका है। समय गुजरने के साथ एमएस धोनी की मैच फिनिश करने की काबिलियत पर भी सवाल उठने लगे हैं। धोनी इस साल जनवरी में भारतीय टीम की वनडे और टी-20 कप्तानी से भी इस्तीफा दे दिया। झारखंड की ओर से खेलते हुए एमएस धोनी ने विजय हजारे ट्रॉफी में 107 गेंदों में 129 रनों की पारी खेली। उनकी इस शानदार को देखने के बाद विपक्षी टीम के कप्तान और पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने एमएस धोनी के बारे में कहा है कि वह क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में आज भी टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करने के लिए ज़बरदस्त खिलाड़ी हैं।

विजय हजारे ट्रॉफी में झारखंड की तरफ से खेलते हुए छत्तीसगढ़ के खिलाफ सेंचुरी जमाकर धोनी ने विरोधी टीम के कप्तान मोहम्मद कैफ का दिल जीत लिया है। कैफ का मानना है कि धोनी अभी भी क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं और टीम का प्रतिनिधित्व करने के लिए सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति हैं। कैफ ने झारखंड की 78 रन की जीत के बाद कहा, ‘उनके पास नैसर्गिक योग्यता है जिसे आज आपने देखा होगा। मेरा मानना है कि वह अब भी तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं। वह अब भी गेंद पर करारा शॉट जमाते हैं।’ इस पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने कहा, ‘मैं धोनी को उनके डेब्यू मैच से देख रहा हूं और हमेशा मानता रहा हूं कि आप केवल प्रैक्टिस से धोनी नहीं बन सकते।’

क्रिकेट के 5 ऐसे रिकार्डस्, जो कर देंगे आपको हैरान

विकेटकीपर ने किया धोनी के अंदाज में रनआउट, अब नियम पर उठ रहे हैं सवाल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App