ताज़ा खबर
 

रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल: एमएस धोनी की मेंटरिंग दिखा रही असर, पहली बार फाइनल खेल सकता है झारखंड

झारखंड ने पहली पारी में मामूली बढ़त हासिल करते हुए मैच में गुजरात पर मानसिक बढ़त हासिल कर ली है। गुजरात की पहली पारी में 390 रनों के जवाब में झारखंड ने तीसरे दिन मंगलवार को अपनी पहली पारी 408 रनों पर समाप्त की।

Author विदर्भ | January 3, 2017 7:27 PM
झारखंड रणजी टीम के साथ नेट प्रक्टिस करते भारतीय वनडे टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी।(Photo: PTI)

विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान पर चल रहे रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल मैच में गुजरात का प्रदर्शन कहीं से कमजोर नहीं कहा जा सकता, लेकिन झारखंड ने पहली पारी में मामूली बढ़त हासिल करते हुए मैच में मानसिक बढ़त हासिल कर ली है। गुजरात के पहली पारी में 390 रनों के जवाब में झारखंड ने आर. पी. सिंह (90/6) की दमदार गेंदबाजी के बावजूद मैच के तीसरे दिन मंगलवार को अपनी पहली पारी 408 रनों पर समाप्त की।

मानसिक बढ़त का ही नतीजा रहा कि झारखंड के गेंदबाज शाबाज नदीम ने दूसरी पारी में दमदार गेंदबाजी करते हुए गुजारत के तीन विकेट चटका डाले और दिन का खेल खत्म होने तक गुजारत दूसरी पारी में 100 रन के स्कोर पर चार विकेट गंवा बैठा। सलामी बल्लेबाज समित गोहेल (49) और भार्गव मेराई (44) अच्छा खेल रहे थे, लेकिन वे भी पवेलियन लौट चुके हैं। पहली पारी में 149 रनों की शतकीय पारी खेलने वाले प्रियांक पांचाल सिर्फ एक रन के निजी योग पर दुर्भाग्यवश रन आउट हो पवेलियन लौटे। कप्तान पार्थिव पटेल भी सिर्फ एक रन बनाकर आउट हुए।

मनप्रीत जुनेजा दो रन और नाइट वॉचमैन हार्दिक पटेल खाता खोले बगैर नाबाद लौटे। सोमवरा तक पांच विकेट पर 214 रन बना चुकी झारखंड की टीम मजबूत इरादे के साथ मैदान पर उतरी। निश्चित तौर पर यह राष्ट्रीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से मुलाकात का ही नतीजा होगा। गौरतलब है कि धोनी सोमवार को अपने गृहनगर झारखंड के साथी खिलाड़ियों से मिलने पहुंचे थे और उनके साथ थोड़ा समय भी बिताया था।

इशांक जग्गी (129) ने राहुल शुक्ला (27) के साथ सोमवार की अपनी साझेदारी को सधे अंदाज में आगे बढ़ाया। दोनों ने मंगलवार को स्कोर में 69 रन और जोड़े। राहुल शुक्ला के 283 के स्कोर पर पवेलियन लौटने के बाद इशांक को कौशल सिंह (53) का अच्छा साथ मिला। दोनों ने सातवें विकेट के लिए 97 रनों की साझेदारी निभाई। झारखंड ने आखिरी चार विकेट मात्र 28 रन के अंदर गंवाए। इशांक ने 182 गेंदों की अपनी शतकीय पारी में 15 चौके और एक छक्का लगाया। इससे पहले प्रियांक पांचाल के 149 रनों की पारी तथा पार्थिव पटेल (62) और आर. पी. सिंह (40) के अहम योगदान की बदौलत गुजरात ने पहली पारी में 390 रनों का अच्छा स्कोर खड़ा किया था।

वीडियो: आर अश्विन बने आईसीसी क्रिकेटर ऑफ द ईयर, टेस्‍ट रैंकिंग में भी नंबर वन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App