ताज़ा खबर
 

क्रिकेटर के घर कोरोना का कहर: पहले मां गईं, अब वह बहन भी जिसने सच कराया था खिलाड़ी बनने का सपना

वेदा कृष्णमूर्ति ने ट्वीट कर लिखा, "यह बहुत दुख के साथ कहना पद रहा है कि कल रात मेरे परिवार को मेरे अक्का को अलविदा कहना पड़ा। इस घटना से मैं पूरी तरह हिल गई हूं। मैं आपके संदेश और प्रार्थनाओं की सराहना करती हूं। अपने प्रियजनों के साथ रहे और सुरक्षित रहें।"

मां के निधन के दो हफ्ते बाद वेदा कृष्णमूर्ति की बहन की भी कोविड संक्रमण से मौत। (express file photo)

भारतीय महिला क्रिकेटर वेदा कृष्णमूर्ति की बहन वत्सला शिवकुमार का कोविड-19 संक्रमण से निधन हो गया। इससे दो हफ्ते पहले उनकी मां का भी इस घातक संक्रमण के कारण निधन हुआ था। 45 साल की वत्सला का निधन बुधवार रात चिक्कमंगलुरू के निजी अस्तपाल में हुआ।

वेदा कृष्णमूर्ति ने ट्वीट कर लिखा, “यह बहुत दुख के साथ कहना पद रहा है कि कल रात मेरे परिवार को मेरे अक्का को अलविदा कहना पड़ा। इस घटना से मैं पूरी तरह हिल गई हूं। मैं आपके संदेश और प्रार्थनाओं की सराहना करती हूं। अपने प्रियजनों के साथ रहे और सुरक्षित रहें।” वेदा के बचपन के कोच इरफान सैत के अनुसार, मां चेलुवंबा देवी के निधन के बाद अचानक बहन की मृत्यु से वह पूरी तरह टूट गई है।

इरफान सैत ने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया कि वत्सला ने वेदा को क्रिकेटर बनाने में अहम भूमिका निभाई है। कोच ने बताया “2003 में वत्सला के पति की मौत सड़क दुर्घटना में हो गई थी। उसके बाद वत्सला अपनी 12 साल की बहन वेदा को लेकर चिकमगलूर से बेंगलुरु आ गई और उसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर बनाने में मदद की।

बेंगलुरु में, वत्सला ने अपनी बहन को शिवाजी नगर में कर्नाटक क्रिकेट संस्थान में दाखिल कराया। इरफान सैत के संरक्षण से वेदा ने कड़ी मेहनत की और अपने कौशल की दम पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय महिला टीम का प्रतिनिधित्व किया।

भारत के लिए 48 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 76 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेलने वाली बेंगलुरू की क्रिकेटर वेदा ने 24 अप्रैल को अपनी मां के निधन की जानकारी ट्वीट करके दी थी और साथ ही बताया था कि उनकी बहन भी संक्रमित हैं और उनकी हालत खराब है।

वेदा ने लिखा था, ‘‘मेरी अम्मा के निधन पर मिले संदेशों का सम्मान करती हूं। आप कल्पना कर सकते हैं कि उनके बिना मेरा परिवार खत्म हो गया है। हम अब मेरी बहन के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं नेगेटिव आई हूं और अगर आप मेरी निजता का सम्मान कर सकते हैं तो अच्छा रहेगा। मेरी संवेदनाएं उन लोगों के साथ हैं जो इससे गुजर रहे हैं।’’

भारत को महामारी की दूसरी लहर से मची तबाही का सामना करना पड़ रहा है और पिछले कुछ दिनों से रोजाना संक्रमण के तीन लाख से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। अहम दवाओं और आक्सीजन की कमी से यह संकट और बढ़ गया है।

Next Stories
1 जब रवैया को लेकर मांजरेकर ने गांगुली पर निकाला था अपना गुस्सा, वेंगसरकर ने कहा – ये टीम इंडिया के लायक नहीं
2 BCCI उपाध्यक्ष ने किया साफ – IPL रद्द नहीं टाला गया है, वर्ल्डकप से पहले खेले जा सकते हैं बचे हुए मैच
3 IPL suspended: बीसीसीआई को झेलना पड़ेगा दो हजार करोड़ से अधिक का नुकसान, स्टार स्पोर्ट्स से लगेगा 1690 करोड़ का झटका
यह पढ़ा क्या?
X