ताज़ा खबर
 

सचिन-सौरभ-द्रविड़ की बराबरी करने को तैयार धोनी, आज बना सकते हैं यह रिकॉर्ड

अगर धोनी ये रन बनाने में सफल रहते हैं तो वह सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली जैसे महान खिलाड़ियों की श्रेणी में शामिल हो जाएंगे। ये कीर्तिमान बनाने वाले वह चौथे भारतीय और विश्व के 12वें​ खिलाड़ी होंगे।

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी।

सितारा क्रिकेट खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के नाम पर एक और कीर्तिमान जुड़ने वाला है। वह एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में 10,000 रन स्कोर करने वाले 12वें क्रिकेटर बन सकते हैं। धोनी वर्तमान में इस रिकॉर्ड से सिर्फ 33 रन दूर हैं। उम्मीद की जा रही है कि धोनी इंग्लैंड में होने जा रही तीन एक दिवसीय मैचों की श्र्ंखला में ये रिकॉर्ड बना सकते हैं। ये श्र्ंखला 12 जुलाई से नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में शुरू होने वाली है। अगर धोनी ये रन बनाने में सफल रहते हैं तो वह सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली जैसे महान खिलाड़ियों की श्रेणी में शामिल हो जाएंगे। ये कीर्तिमान बनाने वाले वह चौथे भारतीय और विश्व के 12वें​ खिलाड़ी होंगे।

इस क्लब में शामिल होंगे धोनी: तेंडुलकर इस श्रेणी में 18,426 रनों के साथ टॉप पर काबिज हैं। उनके पीछे श्री लंका के महान बल्लेबाज कुमार संगाकारा (14,234) का नाम है। इसके बाद क्रमश: आॅस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग (13704), श्री लंका के सनथ जयसूर्या (13,430) और महेला जयावर्धने (12,650) के बाद पाकिस्तान के इंजमाम उल हक़ (11,379), दक्षिण अफ्रीका के जैक्स कैलिस (11,579), सौरव गांगुली (11,363), राहुल द्रविड़ (10,889), वेस्ट इंडीज के ब्रायन लारा (10,405) और श्री लंका के दिलशान तिलकरत्ने (10,290) शामिल हैं।

रिकॉर्ड अभी और भी हैं: धोनी भी विश्व के दूसरे ऐसे बल्लेबाज सह विकेटकीपर होंगे जो 10,000 रनों का आंकड़ा छूने के करीब पहुंचे हैं। कुमार संगाकारा ये कीर्तिमान हासिल करने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज सह विकेटकीपर थे। सिर्फ यही इकलौता रिकॉर्ड नहीं है जिसे धोनी अपने शानदार करियर में हासिल करने वाले हैं। एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में धोनी ने 297 कैच भी लिए हैं। ये उपलब्धि धोनी को सर्वकालीन श्रेणी में चौथे स्थान पर खड़ा करती है।

सिर्फ इन्‍हीं से हैं पीछे : धोनी आॅस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट (417), दक्षिण अफ्रीका के मार्क बूचर (402) और श्री लंका के कुमार संगाकारा (383) से ही पीछे हैं। लेकिन वर्ष 2011 के विश्वकप में विजयी कप्तान ने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में स्टंप करने का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। धोनी ने अपने खेल जीवन के 318 एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 107 खिलाड़ियों को स्टंप आउट किया है। संगाकार इस श्रेणी में 99 स्टंपिंग के साथ दूसरे स्थान पर हैं।

कई बार जीता है भारत: कुल मिलाकर (टेस्ट, एक दिवसीय और टी—20), धोनी ने अब तक 785 बार खिलाड़ियों को विकेट कीपर के तौर पर पवेलियन भेजा है। जबकि दक्षिण अफ्रीका के मार्क बूचर, इस श्रेणी में 998 बार और आॅस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट 905 बार खिलाड़ियों को विकेटकीपर रहते हुए पवेलियन भेज चुके हैं। धोनी की कप्तानी में, भारत ने साल 2011 का एक दिवसीय क्रिकेट विश्वकप जीता था। जबकि साल 2007 में टी—20 विश्वकप भी भारत ने धोनी की कप्तानी में ही जीता था। धोनी ने ही साल 2013 में इंग्लैंड में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी की प्रतियोगिता में भारत का नेतृत्व किया ​था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App