ताज़ा खबर
 

India vs South Africa 3rd Test: जानिए कहां देख सकेंगे दूसरे दिन का टेलीकास्ट

India vs South Africa 3rd Test 2018: पिच में काफी घास है और यह तेज गेंदबाजों के अनुकूल है। ऐसे में कोहली का पहले बल्लेबाजी का फैसला चौंकाने वाला था क्योंकि भारत केवल तेज गेंदबाजी आक्रमण के साथ मैदान पर उतरा है।

Author January 25, 2018 10:05 PM
भारत की ओर से विराट कोहली ने सबसे अधिक 54 रन बनाए।

दक्षिण अफ्रीकी तेज आक्रमण के सामने भारतीय बल्लेबाज फिर से बगलें झांकते हुए नजर आये और तीसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के पहले दिन ही उसकी पूरी टीम 187 रन पर ढेर हो गई। इसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका ने 194 रन बनाए। मेजबान टीम के पास पहली पारी के आधार पर महज 7 रन की लीड है। भारत की ओर से कप्तान विराट कोहली (54) और चेतेश्वर पुजारा (50) ने विपरीत अंदाज में अर्धशतक जमाए। इन दोनों के अलावा इस मैच में वापसी करने वाले भुवनेश्वर कुमार (30) ही दोहरे अंक में पहुंचे। इन तीनों ने मिलकर 134 रन बनाये जबकि बाकी आठ बल्लेबाज 27 रन का योगदान ही दे सके। चौथा बड़ा स्कोर अतिरिक्त रन (26) का रहा।

शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों में लोकेश राहुल (शून्य) और मुरली विजय (आठ) फिर से भारत को अच्छी शुरूआत देने में नाकाम रहे, जबकि श्रृंखला में पहली बार खेल रहे अंजिक्य रहाणे (नौ) जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाए। अपने बल्लेबाजी कौशल के कारण चुने गए विकेटकीपर पार्थिव पटेल (दो) और आलराउंडर हार्दिक पंड्या (शून्य) ने फिर से निराश किया। भारत अगर 200 रन के करीब पहुंच पाया, तो इसका श्रेय भुवनेश्वर को जाता है जिन्होंने केपटाउन में पहले टेस्ट में भी अपनी बल्लेबाजी से प्रभावित किया था।

कगीसो रबाडा (39 रन देकर तीन विकेट) दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल गेंदबाज रहे। वर्नोन फिलैंडर, मोर्ने मोर्कल और एंडिल फेलुकवायो ने दो . दो जबकि लुंगी एनगिडी ने एक विकेट लिया। भुवनेश्वर (तीन रन पर एक विकेट) ने गेंदबाजी में कमाल दिखाया तथा अपने दूसरे ओवर में ही एडेन मार्कराम को विकेट के पीछे कैच कराकर भारत को शुरूआती सफलता दिलायी। स्टंप उखड़ने के समय डीन एल्गर चार रन पर खेल रहे थे, जबकि नाइटवाचमैन रबाडा को अभी अपना खाता खोलना है।

साउथ अफ्रीका और भारत के बीच तीसरे टेस्ट मैच का लाइव प्रसारण Sony Ten 1, Sony Ten 1 HD, Sony Ten 3 और Sony Ten 3 HD पर देखा जा सकता है। लाइव प्रसारण दोपहर 1 बजे से शुरू होगा। मैच की ऑनलाइन स्ट्रीमिंग SonyLIV App और इसकी वेबसाइट SonyLiv.com पर होगी। इसके अलावा, लाइव स्कोर, अपडेट्स और एनालिसिस के लिए jansatta.com के खेल सेक्शन पर आएं।

पिच में काफी घास है और यह तेज गेंदबाजों के अनुकूल है। ऐसे में कोहली का पहले बल्लेबाजी का फैसला चौंकाने वाला था क्योंकि भारत केवल तेज गेंदबाजी आक्रमण के साथ मैदान पर उतरा है। यह 2012 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ टेस्ट मैच के बाद पहला अवसर है जबकि अंतिम एकादश में कोई स्पिनर नहीं है। भारतीय टीम अगर किसी समय अच्छी स्थिति में दिखी तो तब जब पुजारा और कोहली क्रीज पर थे। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 84 रन की साझेदारी की जिसमें अधिकतर योगदान कोहली का था। ये दोनों हालांकि अपने अर्धशतक पूरा करने के बाद क्रीज पर नहीं टिक पाए, जिससे टीम बैकफुट पर चली गई।

पुजारा ने पहले दो सत्र में क्रीज पर टिके रहने को तरजीह दी। उन्होंने 53 गेंद के बाद अपना खाता खोला तथा 179 गेदों का सामना करके आठ चौके लगाये। कोहली ने अपने सदाबहार अंदाज में बल्लेबाजी की 106 गेंद की अपनी पारी में नौ चौके जड़े। कोहली को दो जीवनदान भी मिले। इस बीच रबाडा के साथ उनकी रोचक जंग भी देखने को मिली। लंच के पहले घंटे में अगर भारत 50 रन बना पाया तो उसका श्रेय कोहली को ही जाता है।

भारतीय कप्तान ने 101 गेंदों पर अपना 16वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया। इसके बाद हालांकि भाग्य ने उनका साथ नहीं दिया तथा 43वें ओवर में लुंगी एनगिडी की गेंद पर डिविलियर्स ने उनका कैच लपक दिया। भारत ने 46वें ओवर में 100 रन का आंकड़ा पार किया। इसके बाद रहाणे भी ज्यादा देर तक नहीं टिक पाये। वर्नोन फिलैंडर की गेंद पर उन्हें कैच आउट दिया गया लेकिन यह नोबाल निकल गई।

भारतीय टीम पहली पारी में 187 रन पर सिमट गई लेकिन पुजारा के अनुसार यह पहली पारी का प्रतिस्पर्धी स्कोर था। चेतेश्‍वर पुजारा ने मेजबान प्रसारक सुपरस्पोर्ट से कहा, ‘‘यह उतना ही अच्छा स्कोर है जैसा सामान्य पिच पर 300 रन बनाना। मैंने अभी तक जितनी मुश्किल पिचों पर बल्लेबाजी की है, निश्चित रूप से यह उनमें से एक थी। केपटाउन में पहले टेस्ट में मिली पिच की तुलना में यह काफी कठिन थी।’’

रहाणे को इसके बाद मोर्कल की गेंद पर पगबाधा आउट दे दिया गया। बल्लेबाज ने रिव्यू लिया। गेंद लेग साइड की तरफ जा रही थी और केवल स्टंप को स्पर्श कर रही थी लेकिन अंपायर ने अपना फैसला नहीं बदला। उन्होंने नौ रन बनाए। पुजारा ने तीसरे सत्र के शुरू में कुछ आकर्षक शॉट लगाए और 173 गेंदों पर अपना 17वां अर्धशतक पूरा किया। ऐसे में फेलुकवायो उनकी एकाग्रता भंग करने में सफल रहे। उनकी इनस्विंगर पुजारा के बल्ले को चूमकर विकेटकीपर क्विंटन डि कॉक के दस्तानों में समा गई।

डि कॉक ने इससे पहले राहुल और विजय के कैच भी लिये थे। फिलेंडर की गेंद राहुल के बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर गयी जबकि विजय ने नौंवे ओवर में रबाडा की गेंद पर विकेट के पीछे कैच दिया। भारत ने बीच में 12 गेंद के अंदर तीन बल्लेबाज गंवाये जिनमें पुजारा के अलावा विकेटकीपर पार्थिव पटेल और आलराउंडर हार्दिक पंड्या (शून्य) भी शामिल हैं। इस बीच कोई रन नहीं बना तथा स्कोर चार विकेट पर 144 रन से सात विकेट पर 144 रन हो गया। पंड्या फिर से गैरजिम्मेदाराना शाट खेलकर पवेलियन लौटे।

World Cup 2019
  • world cup 2019 stats, cricket world cup 2019 stats, world cup 2019 statistics
  • world cup 2019 teams, cricket world cup 2019 teams, world cup 2019 teams list
  • world cup 2019 points table, cricket world cup 2019 points table, world cup 2019 standings
  • world cup 2019 schedule, cricket world cup 2019 schedule, world cup 2019 time table

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X