ताज़ा खबर
 

वीडियो: शोएब अख्‍तर की वो तूफानी गेंद जिसने उन्‍हें बनाया दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज

पाकिस्तान के अलावा ऑस्ट्रेलिया की टीम भी अपनी तेज गेंदबाजी की वजह से जानी जाती है। ग्लेन मैकग्रा, ब्रेट ली और जेसन गिलप्सी जैसे गेंदबाजों की भरपाई आज भी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट नहीं कर सकी है। शोएब अख्तर के बाद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने सबसे तेज गेंद फेंकने का रिकॉर्ड हासिल किया है।

शोएब अख्तर।

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर आज अपना 43वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। अख्तर को अपनी तेज गति की गेंदों से विकेट को मैदान में दूर तक फेंकने के लिए जाना जाता रहा है। सचिन तेंदुलकर बनाम शोएब अख्तर की जंग देखने के लिए फैन्स हमेशा उत्सुक रहा करते थे। वहीं भारतीय टीम के पूर्व विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग और शोएब अख्तर के बीच भी अक्सर नोक-झोंक देखा गया है। क्रिकेट इतिहास की सबसे तेज गेंद डालने का रिकॉर्ड शोएब अख्तर के नाम दर्ज है। अख्तर वनडे क्रिकेट में 161.3 किमी/घंटे की रफ्तार से गेंद डाल चुके हैं। साल 2002 में अख्तर ने इंग्लैंड के खिलाफ यह कारनामा किया था। अख्तर भले ही क्रिकेट से संन्यास ले चुके हों, लेकिन उनका यह रिकॉर्ड आज भी बरकरार है। क्रिकेट इतिहास में सबसे तेज गेंद फेंकने वाले टॉप फाइव गेंदबाजों की बात करें तो उस लिस्ट में अख्तर का नाम सबसे ऊपर आता है।

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शोएब अख्तर (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

पाकिस्तान के अलावा ऑस्ट्रेलिया की टीम भी अपनी तेज गेंदबाजी की वजह से जानी जाती है। ग्लेन मैकग्रा, ब्रेट ली और जेसन गिलप्सी जैसे गेंदबाजों की भरपाई आज भी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट नहीं कर सकी है। शोएब अख्तर के बाद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने सबसे तेज गेंद फेंकने का रिकॉर्ड हासिल किया है। अख्तर मैदान पर बेहद जोश के साथ गेंदबाजी करते थे और विकेट लेने के बाद दोनों हाथों को हवा में लहराकर उसका जश्न मनाते थे।

— Cricket World Cup (@cricketworldcup) August 13, 2018

मौजूदा समय में क्रिकेट का यह दिग्गज एक्सपर्ट की भूमिका निभाते नजर आते हैं। अख्तर कई बार भारतीय टीम की तारीफ कर चुके हैं, खासतौर पर कप्तान विराट कोहली से अख्तर खासा प्रभावित नजर आते हैं। शोएब अख्तर विराट कोहली को दुनिया के बाकी बल्लेबाजों के लिए एक मिसाल मानते हैं। अख्तर का मानना है कि आईपीएल की वजह से भारतीय टीम को काफी फायदा पहुंचा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App