scorecardresearch

संजय मांजरेकर को अब भी है टीम इंडिया की जीत का भरोसा, इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर बोले- रविंद्र जडेजा ने कर दी यह गलती

जीत के लिए 378 रन के कठिन लक्ष्य के जवाब में इंग्लैंड ने आक्रामक शुरूआत करते हुए दूसरी पारी में तीन विकेट पर 259 रन बना लिए । उसे अब श्रृंखला की बराबरी करने के लिए 119 रन की दरकार है।

ओली पोप का विकेट लेने के बाद खुशी मनाती टीम इंडिया । (फोटो- आईसीसी ट्विटर)

जॉनी बेयरस्टो और जो रूट की शानदार साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ पांचवें क्रिकेट टेस्ट में शिकंजा कस लिया है। मेजबान टीम को जीत के लिए 378 रन के कठिन लक्ष्य मिला। जवाब में उसने चौथे दिन खेल समाप्त होने तक दूसरी पारी में तीन विकेट पर 259 रन बना लिए हैं।उसे अब सीरीज बराबर करने के लिए 119 रन की दरकार है। रूट 76 और बेयरस्टो 72 रन बनाकर खेल रहे हैं। इस बीच टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर को लगता है कि जसप्रीत बुमराह की अगुवाई वाली टीम चमत्कार कर सकती है। वहीं इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर ने कहा कि रविंद्र जडेजा ने ओवर द विकेट गेंदबाजी करके गलती की।

मांजरेकर ने ट्वीट करके कहा, “भारत की वापसी को नजरअंदाज न करें। वे पहले भी कई बार ऐसा कर चुके हैं। जब आपके पास दो विश्व स्तरीय तेज गेंदबाज हों तो इसकी हमेशा संभावना होती है। बस भारत चाहेगा कि कल मौसम थोड़ा बदल जाए।” जसप्रीत बुमराह को छोड़कर कोई भारतीय गेंदबाज चौथे दिन लय में नहीं दिखा। कप्तान बुमराह के नाम जहां दो विकेट लिए। वहीं मोहम्मद शमी, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद सिराज और शार्दुल ठाकुर ने अभी तक खाता नहीं खोला है।

सिराज ने 6 से अधिक की इकॉनमी रेट से रन दिए हैं। अपने 10 ओवरों में तेज गेंदबाज 64 रन खर्च किए हैं। दरअसल, रविंद्र जडेजा को छोड़कर किसी भी भारतीय गेंदबाज का इस मैच में 4 से कम का इकॉनमी रेट नहीं है। एलेक्स लीस और जैक क्रॉली ने इंग्लैंड के पहले विकेट के लिए 100 रनों की साझेदारी करके अच्छी शुरुआत दी। रूट और बेयरस्टो ने अपनी शानदार साझेदारी से मध्यक्रम को मजबूत किया। अगर भारत को वापसी करनी है तो उनका जल्दी आउट होना अहम होगा।

इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने अच्छी बल्लेबाजी की। भारतीय गेंदबाजों की रन न रोकने के लिए आलोचना हो रही है। इंग्लैंड के पूर्व ऑफ स्पिनर ग्रीम स्वान मेहमान टीम की रक्षात्मक गेंदबाजी से निराश हैं, खासकर बाएं हाथ के स्पिनर रवींद्र जडेजा से। जडेजा दाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए लेग-स्टंप के बाहर बने रफ का फायदा उठाना चाहते थे। उन्होंने ज्यादातर गेंदबाजी ओवर द विकेट की, लेकिन ज्यादा सफलता नहीं मिली।

जडेजा ने बाद में राउंड द विकेट गेंदबाजी की, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी क्योंकि बेयरस्टो और रूट दोनों तब तक सेट हो चुके थे। इसे लेकर स्वान ने कहा, “जहां तक मुझे लगता है कि भारत से एक भूल हुई। वह है जडेजा का ओवर द विकेट गेंदबाजी । रवींद्र इतने अच्छे गेंदबाज हैं, उन्हें 370 रन का पीछा करते हुए 100 रन पर 3 विकेट गिरने के बाद ओवर द विकेट गेंदबाजी करने की जरूरत नहीं है।”

पढें क्रिकेट (Cricket News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X