scorecardresearch

T20 World Cup: टी20 विश्व कप की टीम इंडिया के लिए छांटे जा चुके हैं खिलाड़ी, पूर्व कोच का दावा

राजकोट टी-20 से पहले संजय बांगर ने सीरीज में प्लेइंंग XI में बदलाव न होने पर कहा कि आयरलैंड सीरीज के लिए भारतीय टीम में भले ही नए चेहरे हों, लेकिन उन्हें चुनने का मकसद उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के दबाव से परिचित कराना है।

टीम इंडिया। (फोटो- बीसीसीआई)

साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज में टीम इंडिया ने शानदार वापसी की। लगातार दो मैच हारने के बाद ऋषभ पंत की अगुवाई वाली टीम ने लगातार दो मैचों में जीत हासिल की और अब सीरीज 2-2 से बराबर है। चारों मैचों में प्लेइंग 11 में कोई बदलाव हुआ है और ऐसे में टीम इंडिया के पूर्व बैटिंग कोच संजय बांगर ने ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए 17-18 खिलाड़ी पहले ही छांटे जा चुके हैं।

राजकोट टी-20 से पहले संजय बांगर ने सीरीज में प्लेइंंग XI में बदलाव न होने पर कहा कि आयरलैंड सीरीज के लिए भारतीय टीम में भले ही नए चेहरे हों, लेकिन उन्हें चुनने का मकसद उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के दबाव से परिचित कराना है। उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, “मुझे लगता है कि उमरान मलिक को टीम में लाया गया है ताकि उन्हें ड्रेसिंग रूम के माहौल और एक अंतरराष्ट्रीय टीम कैसे काम करती है उसके बारे में पता चले। आईपीएल एक घरेलू लीग है और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट इससे एक कदम आगे है। इसलिए कुछ खिलाड़ियों को यह अनुभव देने के लिए टीम में चुना गया है।”

संजय ने आगे कहा कि उनका मानना ​​है कि बीसीसीआई ने पहले ही टी 20 विश्व कप के लिए अपनी 17-18 सदस्यीय टीम को शॉर्टलिस्ट कर लिया है। कप्तान रोहित शर्मा, विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह जैसे खिलाड़ियों के सीरीज से आराम दिया गया है, जबकि सूर्यकुमार यादव और केएल राहुल चोट के कारण नहीं खेले सके।

बांगर ने आगे कहा, “मेरा मानना है कि अब तक इस सीरीज में खेलने वाले 11 खिलाड़ी और जिन्हें आराम दिया गया है उनको लेकर कुल 17-18 खिलाड़ियों को टी-20 विश्व कप टीम के लिए शॉर्टलिस्ट किया जा चुका है।” गौरतलब है कि टीम इंडिया आयरलैंड के बाद इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज खेलेगी। वर्ल्ड कप से पहले कुछ और टी-20 सीरीज खेलने हैं। ऐसे में मैन इन ब्लू की तैयारी अच्छी होगी।

पिछले साल यूएई में खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने काफी खराब प्रदर्शन किया था। विराट कोहली की कप्तानी में टीम लीग स्टेज से आगे नहीं बढ़ पाई थी। पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से उसे हार का सामना करना पड़ा था। टीम 2007 में पहली बार खिताब जीती थी। अब देखने वाली बात होगी कि कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ के मौजूदगी में टीम का प्रदर्शन कैसा रहता है।

पढें क्रिकेट (Cricket News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट