ताज़ा खबर
 

धोनी को कप्तानी से हटाने पर हुई थी चर्चा : संदीप पाटील

इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि गौतम गंभीर और युवराज सिंह जैसे सीनियर खिलाड़ियों को बाहर करने में धोनी का हाथ था।

Author नई दिल्ली | September 22, 2016 7:04 AM
राष्ट्रीय चयन समिति के प्रमुख संदीप पाटील। (फाइल फोटो)

चयन समिति के पूर्व अध्यक्ष संदीप पाटील ने कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान महेंद्र सिंह धोनी को कप्तानी से हटाने पर चर्चा हुई थी। हालांकि धोनी का टैस्ट क्रिकेट से संन्यास लेना उनके लिए हैरान कर देने वाला था। पाटील ने इसके साथ ही साफ किया कि इस बात में कोई सच्चाई नहीं है कि गौतम गंभीर और युवराज सिंह जैसे सीनियर खिलाड़ियों को बाहर करने में धोनी का हाथ था। पाटील ने कहा कि बेशक हमने इस पर (धोनी को कप्तानी से हटाने पर) संक्षिप्त चर्चा की थी लेकिन हमने सोचा कि इसके लिए समय सही नहीं है, क्योंकि विश्व कप (2015 ) पास में है। उन्होंने कहा कि हमें महसूस हुआ कि नए कप्तान को कुछ समय दिया जाना चाहिए। विश्व कप को ध्यान में रखते हुए हमने धोनी को कप्तान बनाए रखा।

मेरा मानना है कि विराट को सही समय पर कप्तानी मिली। विराट छोटे प्रारूपों में भी टीम की अगुआई कर सकता है लेकिन अब इसका फैसला नई चयनसमिति को करना होगा।पाटील ने धोनी के टैस्ट से संन्यास लेने के फैसले को हैरान करने वाला बताया क्योंकि टीम आस्ट्रेलिया में तब जूझ रही थी। उन्होंने कहा कि वह कड़ी शृंखला थी। मैं यह नहीं कहूंगा कि धोनी एक डूबते जहाज के कप्तान थे लेकिन चीजें हमारे अनुकूल नहीं हो रही थी। ऐसे में हमारा एक सीनियर खिलाड़ी संन्यास का फैसला करता है। यह हैरान करने वाला था लेकिन आखिर में यह उनका (धोनी) निजी फैसला था।धोनी और कोहली की कप्तानी की तुलना करने के बारे में पूछे जाने पर पाटील ने कहा कि उत्तरी ध्रुव और दक्षिणी धु्रव। प्रत्येक कप्तान की इच्छा होती है कि वह अपनी टीम गठित करे और अपने खिलाड़ियों की क्षमता को समझे। विराट को ‘एंग्री यंग मैन’ के रूप में जाना जाता है लेकिन यह नियंत्रित आक्रामकता है। धोनी शांतचित है लेकिन हमेशा अपने दिल की बात कहता है।

HOT DEALS
  • Micromax Dual 4 E4816 Grey
    ₹ 11978 MRP ₹ 19999 -40%
    ₹1198 Cashback
  • MICROMAX Q4001 VDEO 1 Grey
    ₹ 4000 MRP ₹ 5499 -27%
    ₹400 Cashback

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App