ताज़ा खबर
 

डबल सेंचुरी जड़ने के बाद बोले रोहित शर्मा, अब मीडिया में कुछ अच्छी बातें लिखेंगे

India vs South Africa, 3rd Test: रोहित ने चार पारियों में 529 रन बनाए हैं और किसी टेस्ट सीरीज में 500 से अधिक रन बनाने वाले सिर्फ पांचवें भारतीय ओपनर बने।

Author नई दिल्ली | Updated: October 20, 2019 8:36 PM
रोहित शर्मा। (फोटो सोर्स- पीटीआई)

IND vs RSA, 3rd Test, South Africa tour of India, 2019: ओपनर रोहित शर्मा को हमेशा से पता था कि टेस्ट में सलामी बल्लेबाज के तौर पर अपनी नई भूमिका में मिले मौकों का उन्हें सर्वश्रेष्ठ इस्तेमाल करना होगा। रोहित ने रांची टेस्ट की पहली पारी में डबल सेंचुरी जड़ने के बाद कहा कि अगर वह ऐसा नहीं करते तो लंबे फॉर्मेट में उनकी संभावनाओं पर काफी असर पड़ सकता था। साउथ अफ्रीका के खिलाफ सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले ही टेस्ट में रोहित ने 176 और 127 रन की पारियां खेली और अब तीसरे टेस्ट में दोहरा शतक जड़कर दिग्गज सचिन तेंडुलकर और वीरेंदर सहवाग की बराबरी करते हुए दो फॉर्मेट में 200 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने। रोहित ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘अगर मैं रन नहीं बनाता तो काफी कुछ होने वाला था, नहीं तो आप मेरे बारे में काफी कुछ लिख देते। मुझे पता था कि इसका पूरा फायदा उठाना होगा, अन्यथा मीडिया मेरे खिलाफ लिखता। अब मुझे पता है कि सभी मेरे बारे में अच्छी बातें लिखेंगे।’

रोहित ने चार पारियों में 529 रन बनाए हैं और किसी टेस्ट सीरीज में 500 से अधिक रन बनाने वाले सिर्फ पांचवें भारतीय ओपनर बने।उन्होंने कहा, ‘पारी का आगाज करना मेरे लिए अच्छा मौका था। जैसा कि मैंने विशाखापत्तनम टेस्ट के दौरान कहा, पारी की शुरुआत करने को लेकर मेरे और टीम प्रबंधन के बीच लंबे समय से संवाद हो रहा था। इसलिए मानसिक रूप से मैं इसके लिए तैयार था। मुझे पता था कि ऐसा कभी भी हो सकता है।’

32 वर्षीय रोहित ने उस समय अजिंक्य रहाणे (115) के साथ चौथे विकेट के लिए 267 रन की रेकॉर्ड साझेदारी की जब भारत पहले दिन 39 रन पर तीन विकेट गंवाने से संकट में था। मुंबई के इस बल्लेबाज ने कहा, ‘अगर इस पारी की बात करूं तो मैं कहूंगा कि यह सबसे चुनौतीपूर्ण थी। मैं ज्यादा नहीं खेला। मैं सिर्फ 30 टेस्ट खेला हूं। मैंने अब तक जिसका सामना किया है, उसे देखते हुए यह संभवत: सबसे चुनौतीपूर्ण था।’रोहित ने कहा, ‘पारी का आगाज करना छठे-सातवें नंबर पर बल्लेबाजी से अलग चुनौती है। यह इस पर निर्भर करता है कि आपने कैसी तैयारी की है, आप मैदान पर उतरकर क्या करना चाहते हो, क्या हासिल करना चाहते हो।’

उन्होंने कहा, ‘मैच की पहली गेंद का सामना करना , 30-40 ओवर के बाद खेलने की तुलना में बिलकुल अलग है।’ रोहित ने कहा कि वह अगले साल न्यू जीलैंड दौरे पर विदेशों में भी अपनी सफलता को दोहराना चाहते हैं। इस बल्लेबाज ने रहाणे की भी तारीफ की जिन्होंने पहले दिन लंच के बाद आक्रामक बल्लेबाजी करते हुए भारत के ऊपर से दबाव कम किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Hong Kong vs Oman Playing 11, Dream11 Team Prediction: थोड़ी देर में होगा टॉस, इन खिलाड़ियों को दिखाना होगा दम
2 India vs South Africa 3rd Test Day 2: खराब रोशनी के चलते दूसरे दिन का खेल खत्म, मजबूत स्थिति में भारत
3 Papua New Guinea vs Namibia Playing 11, Dream11 Team Prediction: मैच से पहले जानिए दोनों टीमों की संभावित प्लेइंग इलेवन