ताज़ा खबर
 

रोहित शर्मा ने खोला राज, बताया इस खिलाड़ी की वजह से कामयाब क्रिकेटर बन गए अजिंक्य रहाणे

विराट कोहली की गैरमौजूदगी में इस मैच की कप्तानी भारती टीम के मिडल ऑर्डर बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को सौंपी गई है। हाल ही में रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे ''वॉट द डक'' शो में नजर आए। ऑन फील्ड के साथ-साथ यह दोनों ऑफ फील्ड भी काफी अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस शो के दौरान अजिंक्य रहाणे की जिंदगी से जुड़ी कई बातें सामने आई।

रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे। (फोटो – Reuters)

भारतीय टीम को 14 जून से अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में अफगानिस्‍तान के खिलाफ टेस्ट मैच खेलना है। विराट कोहली की गैरमौजूदगी में इस मैच की कप्तानी भारती टीम के मिडल ऑर्डर बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को सौंपी गई है। हाल ही में रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे ”वॉट द डक” शो में नजर आए। ऑन फील्ड के साथ-साथ यह दोनों ऑफ फील्ड भी काफी अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस शो के दौरान अजिंक्य रहाणे की जिंदगी से जुड़ी कई बातें सामने आई। रहाणे के दोस्तों के मुताबिक उन्हें पहले पार्टी करना और डांस करना बेहद पसंद था, लेकिन राहुल द्रविड़ से मुलाकात करने के बाद वह पूरी तरह से बदल गए। एंकर की इस बात पर रोहित ने भी सहमति जताते हुए कहा, ”ये बिल्कुल सच है। राहुल द्रविड़ जैसे बड़े खिलाड़ी का प्रभाव रहाणे के ऊपर जरूर पड़ा है। राजस्थान रॉयल्स के लिए अजिंक्य रहाणे और राहुल द्रविड़ टीम के लिए ओपनिंग कर चुके हैं और इस दौरान रहाणे को उनसे काफी कुछ सीखने को मिला, मेरे हिसाब से यह मौका रहाणे के क्रिकेट करियर का सबसे बड़ा टर्निंग प्वॉइंट साबित हुआ”।

रोहित शर्मा।

रहाणे शेन वॉर्न और राहुल द्रविड़ दोनों की कप्तानी में आईपीएल खेल चुके हैं। शेन वॉर्न की कप्तानी में एक साल खेलने के बाद रहाणे द्रविड़ के साथ राजस्थान के लिए खेलने लगे। रहाणे ने बताया कि जब वह राहुल द्रविड़ को नेट पर प्रैक्टिस करते हुए देखते थे तो उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलता था। कहीं ना कहीं उन्हें भी इस बात का एहसास था कि उनकी बैटिंग स्टाइल और द्रविड़ का बैटिंग करने का तरीका कुछ-कुछ एक जैसा ही था। इस लिहाज से उन पर बेहतर परफॉर्म करने का ज्यादा प्रेशर था।

रहाणे के मुताबिक दिलीप ट्रॉफी में पहली बार उनकी मुलाकात राहुल द्रविड़ से हुई, जहां उन्हें उनसे काफी कुछ सीखने को मिला। रहाणे ने कहा, ”आज मेरी तुलना लोग द्रविड़ से करते हैं यह मेरे लिए गर्व की बात है। हालांकि, जब इतने बड़े खिलाड़ी की जगह लोग आपको देखने लगते हैं तो यह काम काफी चैलेंजिंग हो जाता है। अपने करियर में अगर मैं द्रविड़ के आस-पास भी पहुंच गया तो खुद को लकी समझूंगा”।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App