ताज़ा खबर
 

विराट कोहली ने अश्विन को बताया ‘अनमोल’ क्रिकेटर

अश्विन ने 10 विकेट चटकाए और भारत की पहली पारी के दौरान 40 रन की पारी भी खेली, जिससे उन्होंने टीम की 197 रन की जीत में अहम भूमिका निभाई।

Author कानपुर | September 27, 2016 01:09 am
विकेट लेने के बाद खुशी मनाते भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन। (Photo: PTI)

रविचंद्रन अश्विन की तारीफ करते हुए भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सोमवार (26 सितंबर) कहा कि टीम में यह ऑफ स्पिनर ‘अनमोल’ है जिसने शुरुआती टेस्ट में न्यूजीलैंड पर बड़ी जीत में गेंद और बल्ले दोनों से अहम योगदान दिया। अश्विन ने 10 विकेट चटकाए और भारत की पहली पारी के दौरान 40 रन की पारी भी खेली, जिससे उन्होंने टीम की 197 रन की जीत में अहम भूमिका निभाई। कोहली ने भारत की बड़ी जीत के बाद कहा, ‘वह भारतीय टीम के लिए बेहतरीन रहा है। अगर आप दुनिया में सभी प्रभावशाली खिलाड़ियों को देखोगे तो वह तीन-चार में आसानी से शामिल होगा। बहुत ही कम खिलाड़ी हैं जो अपनी संबंधित टीमों के लिये इस तरह का बड़ा प्रभाव डाल रहे हैं। विशेषकर गेंदबाज। मुझे लगता है कि गेंदबाज वो हैं जो आपको टेस्ट मैच जिताते हैं और अश्विन इनमें से एक हैं।’

उन्होंने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि वह पिछले दो वर्षों से लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहा है। वह अपने खेल पर काफी कड़ी मेहनत करता है। वह खेल पर बहुत सोच विचार करता है। वह खेल को बखूबी समझता है।’ कोहली ने अपने मुख्य स्पिनर की गेंदबाजी के बारे में कहा, ‘वह बहुत स्मार्ट क्रिकेटर है, बहुत बुद्धिमान। यह उसकी बल्लेबाजी में भी दिखता है। वह हालात को समझता है और फिर इसी के हिसाब से खेलता है। वह जानता है कि कब रन जुटाने हैं और कब हालात के अनुसार खेलना है। इसलिये अश्विन जैसे क्रिकेटर का आपकी टीम में होना अनमोल है।’

कोहली ने इस पर भी बात की कि किस तरह अश्विन और रविंद्र जडेजा ने बढ़त दिलायी जब चीजें रणनीति के अनुसार नहीं चल रही थीं। इन दोनों ने मैच के दौरान न्यूजीलैंड के 20 विकेटों में से 16 विकेट साझा किए। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘मुझे यह चीज काफी पसंद है कि जब दोनों महसूस करते हैं कि बतौर टीम हम काफी मेहनत कर रहे हैं तो दोनों आपके पास आकर कहते हैं कि मैं इस तरह की गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहा हूं देखते हैं कि यह कैसी रहती है।’ उन्होंने कहा, ‘बतौर कप्तान, इससे हमेशा आपको आश्वासन मिलता है कि ये दोनों खिलाड़ी निश्चित रूप से जानते हैं कि वे क्या कर रहे हैं और वे सही लाइन एवं लेंथ में ही गेंदबाजी करेंगे। दोनों सुझाव सुनने के लिए भी हमेशा तैयार रहते हैं लेकिन जब वे महसूस करते हैं कि वे क्या चाहते हैं और इस पर आश्वस्त होते हैं तो वे आपको बता देते हैं। मैं व्यक्तिगत रूप से बतौर कप्तान इस चीज को पसंद करता हूं।’

कोहली चेतेश्वर पुजारा से भी काफी खुश थे और उनका मानना है कि उसमें काफी सुधार हुआ है क्योंकि वह अब तेजी से रन जुटा रहा है। इससे पहले वेस्टइंडीज दौरे पर नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हुए उनके औसत से कम प्रदर्शन की काफी आलोचना भी हुई थी। उन्होंने कहा, ‘वह ऐसा खिलाड़ी है जो दबाव को बखूबी संभाल लेता है लेकिन पारी में एक निश्चित चरण के बाद ऐसा समय आता है जब टीम को रन की जरूरत होती है। तभी हमें लगता है कि उसमें इनका फायदा उठाने की क्षमता है। यह सिर्फ उसे बताने की बात है। वह अपने खेल पर काफी कड़ी मेहनत करता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App