Rashid latif praises mahendra singh dhoni but dont think he is the best wicket keeper - राशिद लतीफ ने महेंद्र सिंह धोनी की जमकर की तारीफ, लेकिन नहीं मानते दुनिया का बेस्ट विकेटकीपर - Jansatta
ताज़ा खबर
 

राशिद लतीफ ने महेंद्र सिंह धोनी की जमकर की तारीफ, लेकिन नहीं मानते दुनिया का बेस्ट विकेट कीपर

लतीफ इस वक्त पाकिस्तान सुपर लीग में खेल रही टीम कराची किंग्स के डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट ऑपरेशंस हैं। लतीफ ने गल्फ न्यूज से बातचीत में कहा, 'महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट के अच्छे एंबैसेडर हैं।'

महेंद्र सिंह धोनी और राशिद लतीफ (फाइल फोटो)

पूर्व पाकिस्तानी विकेटकीपर राशिद लतीफ ने महेंद्र सिंह धोनी की खूब तारीफ की है। लतीफ ने कहा है कि धोनी वो शख्स हैं, जिन्होंने भारतीय क्रिकेट का चेहरा बदल दिया। 70 और 80 के दशक में कपिल देव की सफलता के बाद भारत को छोटे शहरों से कई बड़े नामी क्रिकेटर मिले, लेकिन उनमें से कोई भी धोनी जितना प्रभावशाली नहीं रहा। एक ऐसा क्रिकेटर जिसने टीम इंडिया को दो वर्ल्ड कप समेत तीन आईसीसी ट्रॉफी का विजेता बनाया। हालांकि, इतनी ज्यादा तारीफ के बावजूद भी राशिद लतीफ माही को बेस्ट विकेट कीपर नहीं मानते है। लतीफ इस वक्त पाकिस्तान सुपर लीग में खेल रही टीम कराची किंग्स के डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट ऑपरेशंस हैं।

लतीफ का मानना है कि वर्तमान में धोनी दुनिया में बेस्ट विकेट कीपर नहीं है। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि जेफरी डुजोन के बाद डि कॉक बेस्ट विकेटकीपर हैं।’ डुजोन 80 के दशक में वेस्ट इंडीज के विकेट कीपर हुआ करते थे। वहीं, क्विंटन डि कॉक इस वक्त साउथ अफ्रीकी टीम के लिए स्टंप्स के पीछे यह जिम्मेदारी संभालते हैं। लतीफ ने गल्फ न्यूज से बातचीत में कहा, ‘महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट के अच्छे एंबैसेडर हैं। न केवल भारत के लिए बल्कि पूरी दुनिया के लिए। वह एक कूल शख्स हैं, इस वजह से भारत को उनकी अगुआई में काफी कामयाबी मिली है। वह एक अच्छे इंसान भी हैं।’

लतीफ ने इस इंटरव्यू में खिलाड़ियों के फिटनेस पर भी बात की। लतीफ ने कहा कि फिटनेस आज की क्रिकेट की जरूरत बन चुकी है। उन्होंने कहा, ‘मैं फिटनेस में पूरी तरह यकीन रखता हूं। क्रिकेट दक्षता का खेल है, लेकिन आपको फिटनेस की जरूरत होती है। गेम के प्रति जागरूक रहना इंटरनैशनल क्रिकेट में कामयाबी का राज है। फिटनेस से मेरा मतलब यह नहीं कि किसी क्रिकेटर को महान धावक उसैन बोल्ट की तरह फिट रहना है। क्रिकेट में आपको मानसिक तौर पर भी मजबूत होना पड़ता है।’ बता दें कि लतीफ इससे पहले अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम को कोचिंग दे चुके हैं। बातचीत में लतीफ ने यह भी माना कि भले ही उन्होंने कभी भी टी20 मैच नहीं खेला हो, लेकिन उन्हें पता है कि मैच कैसे जीते जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App