ताज़ा खबर
 

पीएसएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में पीसीबी ने तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान को किया सस्पेंड

शहरयार खान ने मोहम्मद इरफान के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा, ‘इरफान अब भी जांच के दायरे में है और दो या तीन दिन में उसे भी कारण बताओ नोटिस दिया जाएगा।’

Author इस्लामाबाद | March 14, 2017 4:14 PM
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान को पीएसएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में सस्पेंड कर दिया है।(PHOTO: PCB)

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान को पीएसएल स्पॉट-फिक्सिंग मामले में सस्पेंड कर दिया है। पीसीबी ने मोहम्मद इरफान से पहले शारजील खान, खालिद लतीफ और नासिर जमशेद को भी क्रिकेट के सभी प्रारूपों से निलंबित कर चुका है। गौरतलब है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की भ्रष्टाचार रोधी इकाई ने पाकिस्तान के तीन खिलाड़ियों मोहम्मद इरफान, जुल्फिकार बाबर और शाहजेब हसन से भी पाकिस्तान सुपर लीग में कथित भ्रष्टाचार के आरोप में पूछताछ की थी। हालांकि, जुल्फिकार बाबर और शाहजेब हसन को गलत नहीं पाया गया था।

लाहौर में मीडिया से बातचीत में पीसीबी की ओर से शहरयार खान ने कहा कि पाकिस्तानी बल्लेबाजों शारजील खान और खालिद लतीफ के खिलाफ साक्ष्य मिले थे, इसलिए उन्हें तुरंत पीएसएल से वापस भेज दिया गया था, जबकि इरफान के खिलाफ जांच जारी थी और अब उसे भी निलंबित कर दिया गया है। शारजील, खालिद और इरफान तीनों पीएसएल में इस्लामाबाद यूनाइटेड टीम की ओर से खेलते हैं, जिसके कप्तान मिस्बाह उल हक हैं। इस प्रकरण के सामने आने के बाद इस्लामाबाद यूनाइटेड टीम प्रबंधन ने इरफान को दूसरे मैच में नहीं खिलाया, जबकि वह टीम की ओर से पहले मैच में खेले थे।

शहरयार खान ने मोहम्मद इरफान के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा, ‘इरफान अब भी जांच के दायरे में है और दो या तीन दिन में उसे भी कारण बताओ नोटिस दिया जाएगा।’ शहरयार ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से खेल चुके जुल्फिकार बाबर और शाहजेब हसन को पाक साफ पाया गया है और वह पीएसएल में खेलना जारी रख सकते हैं। बल्लेबाज जमशेद ने पाकिस्तान की ओर से दो टेस्ट, 48 वनडे और 18 टी20 मैच खेले हैं। वह पिछली बार 2015 विश्व कप के दौरान राष्ट्रीय टीम का हिस्सा थे।

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें…

वीडियो: इस टीम को केविन पीटरसन की सलाह, ' स्पिन खेलना सीखो वरना भारत को दौरा रद्द कर दो'

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App