ताज़ा खबर
 

गलत आउट दिए जाने पर गुस्साए पार्थिव पटेल ने फील्ड अंपायर से पूछा-अंपायरिंग ही क्यों करते हो?

अंपायर के फैसले से पार्थिव पटेल बुरी तरह झुंझलाए हुए थे। जब वो पैवेलियन लौट रहे थे तो उन्होंने अंपायर वीरेंद्रर शर्मा के लिए कहा, 'अंपायरिंग क्यों करते हो?'

गुजरात के कप्तान पार्थिव पटेल ईरानी ट्रॉफी फाइनल में अंपायर के फैसले पर आपत्ति जताते हुए स्टंप माइन में कैद हो गए।(Photo: BCCI)

गुजरात क्रिकेट टीम के कप्तान पार्थिव पटेल ईरानी ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में फील्ड अंपायर वीरेंदर शर्मा के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करते हुए स्टंप माइक में रिकॉर्ड हो गए। पार्थिव पटेल को फाइनल मुकाबले की दूसरी इनिंग में वीरेंदर शर्मा ने कैच आउट करार दिया, जिस पर बिफरे पार्थिव पटेल ने स्टेडियम लौटते वक्त उनके खिलाफ कुछ कहा, पार्थिव की बात स्टंप माइक में रिकॉर्ड हो गई और इसके लिए उन्हें दंडित भी किया गया। गुजरात को ईरानी ट्रॉफी के फाइनल में हराकर शेष भारत ने 28वीं बार खिताब पर कब्जा जमा लिया। ऋद्धिमान साहा ने शानदार दोहरा शतक लगा शेष भारत को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

फाइनल मुकाबले में जब गुजरात की टीम दूसरी पारी खेल रही थी तो 48 ओवर में पार्थिव पटेल के खिलाफ शॉर्ट लेग पर खड़े प्लेयर ने कैच की अपील की। फील्ड अंपायर वीरेंद्रर शर्मा ने अपील को स्वीकार करते हुए पार्थिव पटेल को आउट करार दे दिया, लेकिन रिप्ले में दिख रहा था कि गेंद और बल्ले में कोई संपर्क नहीं हुआ था। गेंद पार्थिव पटेल के बल्ले को छकाते हुए उनके पैड से टकराकर शॉर्ट लेग की तरफ उछल गई, जहां अखिल हरवाडकर ने गेंद को खूबसूरती से लपक लिया। अंपायर के इस फैसले से पार्थिव पटेल बुरी तरह झुंझलाए हुए थे। जब वो पैवेलियन लौट रहे थे तो उन्होंने अंपायर वीरेंद्रर शर्मा के लिए कहा, ‘अंपायरिंग क्यों करते हो?’ उनकी यह बात स्टंप माइक में रिकॉर्ड हो गई। बाद में पार्थिव पटेल को मैच रेफरी चिंमय शर्मा से बातचीत करते हुए देखा गया।

मैच समाप्त होने के बाद जब पार्थिव पटेल से अंपायर को लेकर उनके कमेंट के बारे में पूछा गया तो उनका जवाब था, ‘मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता। मैं इस मुद्दे पर अब कोई बयान नहीं दे सकता क्योंकि मैने जो किया उसके लिए जुर्माना भर चुका हूं। सबने यह देखा भी। मैं अंपायर के फैसले पर सवाल उठाने वाला कोई नहीं होता।’ पार्थिव पटेल ने बाद में अपनी गलती स्वीकार करते हुए कहा कि मुझे कमेंट नहीं करना चाहिए था। हालांकि, सिर्फ पार्थिव पटेल ही नहीं बल्कि एक और खिलाड़ी अंपायर के खराब फैसले का शिकार बना। बल्लेबाजी अनिल थडानी को भी अंपायर ने शहबाज नदीम की गेंद पर कैच आउट करार दिया, लेकिन रिप्ले में साफ दिख रहा था कि गेंद ने बल्ले का किनारा नहीं लिया था।

विकेटकीपर ने किया धोनी के अंदाज में रनआउट, अब नियम पर उठ रहे हैं सवाल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App