ताज़ा खबर
 

बैन किए गए पाकिस्तानी क्रिकेटर को पड़ते हैं मिर्गी के दौरे; PCB के पूर्व अध्यक्ष का खुलासा, अनुशासनहीन भी बताया

PCB के पूर्व अध्यक्ष नजम सेठी ने खुलासा किया है कि उमर अकमल को मिर्गी के दौरे पड़ते हैं। सेठी 2013 से 2018 तक पीसीबी के अध्यक्ष और कार्यकारी समिति के प्रमुख रहे। इस बीमारी से ग्रसित होने के बावजूद भी उमर ने इसका इलाज कराने से मना कर दिया है।

पाकिस्तानी क्रिकेटर उमर अकमल को आते हैं मिर्गी के दौरे

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के पूर्व अध्यक्ष नजम सेठी ने उमर अकमल को लेकर बड़ा खुलासा किया है। उनके मुताबिक, तीन साल के लिए बैन किए गए इस क्रिकेटर को मिर्गी के दौरे पड़ते हैं। उसको इस बात की जानकारी भी है, लेकिन उसने इलाज कराने से इनकार कर दिया है। सेठी ने उमर को अनुशासनहीन भी करार दिया। कुछ दिन पहले पाकिस्तानी क्रिकेटर के बड़े भाई कामरान अकमल ने भी उमर को सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और विराट कोहली से सीखने की सलाह दी थी।

पीसीबी ने हाल ही में उमर अकमल को 3 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। उसने पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) से पहले सट्टेबाजों द्वारा उससे संपर्क करने की बात बोर्ड को नहीं बताई थी। नजम सेठी 5 साल (2013 से 2018) तक पीसीबी के अध्यक्ष और कार्यकारी समिति के प्रमुख रह चुके हैं। सेठी ने कहा कि जब वे बोर्ड अध्यक्ष बने थे, तो उनके सामने पहली समस्या उमर वाली ही थी।

नजम सेठी ने एक समाचारप चैनल को बताया, ‘हमारे पास चिकित्सा रिपोर्ट थी। रिपोर्ट में इसकी पुष्टि की गई थी, उसे मिर्गी के दौरे पड़ते हैं। इसी कारण हमने उसे वेस्टइंडीज दौरे से बुलाया था। मैंने उससे कहा कि यह समस्या गंभीर है। उसे को रेस्ट लेकर उचित उपचार कराने की जरूरत है। हालांकि, वह यह मानने को तैयार ही नहीं था।’

सेठी के मुताबिक, ‘जो भी हो मैंने उसे दो महीने तक खेलने से रोक दिया। हालांकि, बाद में हमने उसकी चिकित्सा रिपोर्ट चयनकर्ताओं को भेज दीं। हमने सेलेक्टर्स पर फैसला छोड़ दिया। मुझे सेलेक्टर्स के के काम में हस्तक्षेप करना पसंद नहीं था।’

सेठी ने यह तो माना कि उमर प्रतिभाशाली क्रिकेटर है, लेकिन खुद को टीम से बड़ा समझता है। साथ ही उमर को अनुशासनहीन भी बताया। उन्होंने कहा, ‘उसे अनुशासन में रहना पसंद नहीं है। वह टीम के लिए नहीं खुद के लिए खेलता है। वह अनुशासन की परवाह नहीं करता।’ बता दें कि मिर्गी केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (न्यूरोलॉजिकल) संबंधी बीमारी है। इसमें मस्तिष्क की गतिविधियां असामान्य हो जाती हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 विराट कोहली ने सिर्फ फैशन में नहीं बनवाए हैं शरीर पर इतने टैटू, जानिए हर एक के पीछे की क्या है कहानी
2 सचिन तेंदुलकर को शारजाह में लक्ष्मण पर आया था गुस्सा, पड़ी थी बड़े भाई से डांट; 22 साल बाद किया खुलासा
3 कोविड-19: कैरेबियाई दिग्गज की नजर में खेल के लिए जरूरी था ब्रेक, कहा- डॉलर कमाने के चक्कर में हो रही है इतनी क्रिकेट