ताज़ा खबर
 

शर्मनाक हार के बाद बोले पाकिस्तानी कोच, भारत ने हमारे खिलाड़ियों को खेलने का मौका ही नहीं दिया

पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच बुधवार को फाइनल में जगह बनाने के लिए भिड़ंत होगी। पाकिस्तान अगर बांग्लादेश को हराकर फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हो जाती है तो शुक्रवार को उसे एक बार फिर भारत से सामना करना पड़ेगा। पाकिस्तान की ओर से बल्लेबाजी में शोएब मलिक के अलावा कोई भी बल्लेबाज फॉर्म में दिखाई नहीं पड़ रहा।

पाकिस्तानी कोच और खिलाड़ी।

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कोच मिकी आर्थर ने भारत से मिली हार के बाद हार की वजहों पर अपनी बात रखी। मैच के बाद मीडिया से बात करते हुए आर्थर ने कहा, ”भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया और वो सही मायनों में जीत के हकदार थे। भारतीय टीम ने हमें खेलने का मौका ही नहीं दिया। हमारी टीम अभी नई है, सरफराज और मलिक को छोड़ दें तो टीम के सभी खिलाड़ी युवा हैं और उन्हें इस तरह की परिस्थितियों में ढलने में थोड़ा समय लगेगा। मुझे पूरी उम्मीद है कि समय के साथ हमारे खिलाड़ी और बेहतर होते जाएंगे। इस मैच में हमारे बल्लेबाजों ने गलतियां की, जिस वजह से हम बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे। भारत जैसी मजबूत बैटिंग लाइन अप वाली टीम के सामने इतने कम रनों पर जीता नहीं जा सकता। आर्थर को उम्मीद है कि टीम बांग्लादेश के खिलाफ गलतियों से सबक लेते हुए बेहतर प्रदर्सन करेगी। ”

पाकिस्तान के कोच मिकी आर्थर

आर्थर ने कहा, “इस प्रकार की विकेट पर आपको बेहतर रूप से स्ट्राइक की जरूरत है। हमने ऐसा नहीं किया। हम अपनी योजनाओं पर टिके नहीं रहे। मैं कहूंगा कि टीम के बल्लेबाजों ने अपनी जिम्मेदारी से हटकर काम किया और यह स्वीकार्य नहीं है।” आर्थर ने कहा, “हमारी गेंदबाजी भी योजना के मुताबिक नहीं रही। इस कारण स्कोर करना मुश्किल हो गया। हम इन गलतियों के बारे में बैठकर बात करेंगे। हम अपनी योजनाओं पर टिके नहीं रहे और इस गलती को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।”

बता दें कि पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच बुधवार को फाइनल में जगह बनाने के लिए भिड़ंत होगी। पाकिस्तान अगर बांग्लादेश को हराकर फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हो जाती है तो शुक्रवार को उसे एक बार फिर भारत से सामना करना पड़ेगा। पाकिस्तान की ओर से बल्लेबाजी में शोएब मलिक के अलावा कोई भी बल्लेबाज फॉर्म में दिखाई नहीं पड़ रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App