ताज़ा खबर
 

लेफ्टिनेंट कर्नल MS धोनी की रैंक को लेकर गौतम गंभीर का बड़ा बयान, आर्मी ग्लब्ज को लेकर भी दी प्रतिक्रिया

इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में गंभीर ने पैरामिलिट्री (Paramilitary force) की ओर से धोनी को लेफ्टिनेंट कर्नल की रैंक मिलने पर कहा कि ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि सेना को किसी भी पब्लिसिटी की जरूरत नहीं है।

धोनी की रैंक पर गंभीर का बयान

क्रिकेट से राजनेता बन चुके ईस्ट दिल्ली की सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) पिछले काफी लंबे वक्त से राजनीति को लेकर नहीं बल्कि किन्हीं दूसरी वजहों के जरिए सुर्खियां बटोर रहे हैं। दरअसल, आज कल गंभीर अपने सोशल अकाउंट की पोस्ट के जरिए चर्चा में रहते हैं। वह आए दिन ही कोई न कोई ऐसी पोस्ट शेयर करते हैं जिसके चलते वह मीडिया की खबरों में जहग बना लेते हैं। लेकिन धोनी के खिलाफ गंभीर पिछले काफी दिनों से कोई न कोई सवाल खड़ा कर रहे हैं। 2023 में धोनी को लेकर गंभीर का कहना है कि अब उन्हें नहीं बल्कि युवा खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए। हाल ही धोनी को लेकर गंभीर ने एक और बड़ा बयान दिया है। पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी नेता ने कहा है कि धोनी को रैंक मिलने और विकेटकीपिंग के दौरान इंडियन आर्मी के सिंबल के ग्लब्ज पहनने को लेकर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है।

इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में गंभीर ने पैरामिलिट्री (Paramilitary force) की ओर से धोनी को लेफ्टिनेंट कर्नल की रैंक मिलने पर कहा कि ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि सेना को किसी भी पब्लिसिटी की जरूरत नहीं है। मैं मानद रैंक के पक्ष में कभी नहीं रहा लेकिन मुखर रहा हूं। गंभीर ने कहा कि उस वर्दी को हासिल करने के लिए जावन अपना खून पसीना बहाते हैं तब जाकर उन्हें रैंक और यूनीफॉर्म मिलती है। वर्ल्ड कप के दौरान धोनी द्वारा पहले गए आर्मी सिंबल के ग्लब्ज को लेकर गंभीर ने कहा कि माही ने इस पर कुछ नहीं लिखा और उन्हें इस खबर का हिस्सा नहीं बनने चाहिए था।

गंभीर ने कहा कि वह रक्षा बलों से मानद रैंक पाने वाले लोगों का ज्यादा समर्थन नहीं करते। गौरतलब है कि धोनी को भारतीय प्रादेशिक सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक हासिल है। हाल ही में धोनी ने कश्मीर में लगभग दो सप्ताह सेना के साथ बिताए। गौतम गंभीर ने भारतीय सेना की सेवा करने के अपने निर्णय के लिए धोनी की प्रशंसा भी की थी। हालांकि गंभीर देश की सेना का सम्मान करते हैं। उन्होंने पुलवामा हमले में 40 से अधिक शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों के बच्चों की शिक्षा की भी जिम्मेदारी ली थी।

Next Stories
1 IND vs SA 1st Test: रोहित शर्मा का टेस्ट में ओपनिंग डेब्यू, ऋद्धिमाना साहा को मौके का इंतजार
2 गंभीर ने वीडियो शेयर कर उड़ाया पाकिस्तान का मजाक, लिखा- इतना कश्मीर किया कि कराची भूल गए
3 IND vs SA 1st Test: बीसीसीआई ने किया प्लेइंग इलेवन का ऐलान, 3 स्पिनर के साथ उतरेगी टीम इंडिया
ये पढ़ा क्या?
X