ताज़ा खबर
 

फुटबॉल की तरह क्रिकेट की भी मैदान पर वापसी चाहते हैं पाकिस्तानी कोच, लॉकडाउन में घर पर रहना निराशाजनक

पूर्व कप्तान ने कहा कि मार्च में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) बीच में ही रद्द किये जाने के बाद पिछले दो महीने से खिलाड़ियों के पास घर में रहने के अलावा कोई विकल्प नहीं है मिसबाह ने कहा, ‘‘हर कोई घर तक सीमित है लेकिन मुझे लगता है कि घर में रह रहे लोगों को अगर क्रिकेट देखने को मिलता है तो यह काफी अच्छा होगा।

Author नई दिल्ली | Updated: May 8, 2020 3:22 PM
पाकिस्तान के मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिसबाह उल हक

पाकिस्तान के मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिसबाह उल हक ने कहा कि कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के कारण घर तक सीमित रहना निराशाजनक हो सकता है और वह उचित सुरक्षा उपायों के साथ खाली स्टेडियमों में क्रिकेट गतिविधियां शुरू करने के पक्षधर हैं। ऐसी रिपोर्ट हैं कि इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) पाकिस्तान के खिलाफ अगस्त में मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड और साउथम्पटन में खाली स्टेडियमों में तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला आयोजित करने पर विचार कर रहा है। मिसबाह ने कहा कि वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुछ क्रिकेट गतिविधियां शुरू होना पसंद करेंगे और उन्हें खाली स्टेडियमों में खेलने से कोई दिक्कत नहीं होगी।

उन्होंने कहा, ‘‘इस कोरोना वायरस महामारी में यह किसी के लिये भी आदर्श स्थिति नहीं है तथा स्वास्थ्य और सभी का स्वस्थ रहना निश्चित तौर पर हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए लेकिन अगर उचित सुरक्षा उपायों के साथ खाली स्टेडियमों में मैचों का आयोजन होता है तो मुझे कोई परेशानी नहीं होगी।’’

इस पूर्व कप्तान ने कहा कि मार्च में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) बीच में ही रद्द किये जाने के बाद पिछले दो महीने से खिलाड़ियों के पास घर में रहने के अलावा कोई विकल्प नहीं है मिसबाह ने कहा, ‘‘हर कोई घर तक सीमित है लेकिन मुझे लगता है कि घर में रह रहे लोगों को अगर क्रिकेट देखने को मिलता है तो यह काफी अच्छा होगा। जब आपके पास करने के लिये कुछ नहीं हो और आपको ज्यादा समय कोविड-19 की खबरें सुननी पड़ रही हों तो यह निराशाजनक होता है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी स्थिति में खेल शुरू किये जा सकते हैं और अगर क्रिकेट शुरू होता है तो लोगों को कम से कम घर में बैठकर क्रिकेट देखने को तो मिलेगा। ’’

पिछले साल सितंबर में पद संभालने वाले मिसबाह ने कहा कि अगर खिलाड़ियों, मैच अधिकारियों और अन्य हितधारकों के लिये उचित सुरक्षा उपाय अपनाये जाते हैं तो क्रिकेट बोर्ड खेल शुरू कर सकते हैं लेकिन उन्हें कोरोना वायरस पर अपनी सरकारों के दिशानिर्देशों का पालन करना होगा। जर्मन फुटबाल लीग बुंदेसलीगा 16 मई को शुरू हो रही है और मिसबाह ने कहा कि यह सकारात्मक समाचार है। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन उन्हें भी पहले अपनी सरकार से मंजूरी लेनी पड़ी। सभी क्रिकेट बोर्ड को भी ऐसा करना होगा। ’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारतीय संग्रहालय ने 10 लाख में खरीदा पाकिस्तानी क्रिकेटर का बैट, 3 साल पहला ठोका था तिहरा शतक
2 खाली स्टेडियम में मैच पर बोले विराट कोहली- हम जुनूनी प्रशंसकों के सामने खेलने के आदी
3 अंडरवर्ल्ड डॉन की एक्स वाइफ को डेट कर रहे अजहरुद्दीन!, कभी प्रियंका चोपड़ा करना चाहती थीं शादी; देखें VIDEO
ये पढ़ा क्या?
X