ताज़ा खबर
 

श्रीलंका ने किया सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बनाने का ऐलान, पूर्व कप्तान बोले- जो है उसमें ही खेल नहीं पाते…

श्रीलंका सरकार के सबसे बड़े स्टेडियम के बयान पर पूर्व कप्तान जयवर्धने ने कहा,''हम मौजूदा स्टेडियमों में ही इतना अंतरराष्ट्रीय या प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेल पाते तो दूसरे की क्या जरूरत है।''

श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धन

कोरोना वायरस के लॉकडाउन के दौरान श्रीलंका ने एक बड़ा ऐलान किया है। दरअसल, हाल ही में श्रीलंका ने होमागामा में देश का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बनाने का फैसला किया है। उनके इस बयान के बाद श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने सवाल भी किया है। उन्होंने इस फैसले पर प्रश्न करते हुए कहा है कि मौजूदा बुनियादी ढांचे का ही पूरा इस्तेमाल नहीं हो पा रहा है तो भला दूसरे की क्या जरूरत?

सरकार ने श्रीलंका क्रिकेट के साथ मिलकर रविवार को घोषणा की कि वह होमागामा में देश का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बनायेगी जो 26 एकड़ में फैला होगा और जिसकी दर्शक क्षमता 60000 होगी। इसकी लागत तीन से चार करोड़ डॉलर आयेगी। जयवर्धने ने ट्वीट किया,”हम मौजूदा स्टेडियमों में ही इतना अंतरराष्ट्रीय या प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेल पाते तो दूसरे की क्या जरूरत है।” उन्होंने अपनी इस पोस्ट पर शॉकिंग इमोजी भी बनाए।

श्रीलंका में फिलहाल आठ अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम है जो कैंडी, गाले, कोलंबो, हंबनटोटा, दाम्बुला, पल्लेकेले और मोरातुवा में हैं। 42 वर्षीय जयवर्धने ने श्रीलंका की ओर से 149 टेस्ट और 448 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले हैं। उनके नाम टेस्ट में 11814 रन दर्ज है जबकि वनडे में 12650 रन बनाए हैं।

लॉकडाउन के बीच महेला जयवर्धने अपने बयानों को लेकर काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं। हाल के दिनों में जयवर्धने ने पहले कप्तान और फिर कोच के रूप में काफी सफलता प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि उन्होंने हमेशा अपने खिलाड़ियों का समर्थन किया है।

पिछले दिनों एक इंटरव्यू में जब जयवर्धने से जब पूछा गया कि वह अहंकार रखने वाले खिलाड़ियों को कैसे संभालते थे तो उन्होंने कहा, ”अंहकार होना अच्छा है। इसमें कुछ भी नुकसानदायक नहीं है। यह सिर्फ पहचानने और सुनिश्चित करने की बात है कि वे इसे कैसे आगे बढ़ाएं। हर किसी को इस स्तर का होना चाहिए क्योंकि वे अच्छे खिलाड़ी हैं। इसलिए आप कोशिश करते हो कि वे खुद को साबित करें। आपको सिर्फ ऐसा करने की जरूरत होती है।”

श्रीलंका के सबसे सफल कप्तानों में से एक जयवर्धने ने कहा, ”यह सभी खिलाड़ियों से पेशेवर तरीके से और सम्मानजनक तरीके से बात करना होता है। यही टीम संस्कृति होती है जो आप बनाते हो।’ उन्होंने कहा, ‘एक बार आप यह संस्कृति बनाते हो तो किसी एक के लिए इससे आगे जाना मुश्किल हो जाता है।”

जयवर्धने ने कहा, ”बाकी के खिलाड़ी उस व्यक्ति को ग्रुप स्तर से नीचे ले आएंगे। अगर आपने ऐसा अच्छा माहौल नहीं बनाया है तो आपको समस्या हो सकती है क्योंकि इसमें कोई सीमाएं नहीं होती।” उनके मार्गदर्शन में मुंबई इंडियंस ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के पिछले तीन चरण में से दो में खिताब अपने नाम किया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lockdown-4: स्टेडियम खुलेंगे पर अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए BCCI शुरू नहीं करेगी ट्रेनिंग कैंप
2 कोहली की बाबर से तुलना करने पर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने दिया ऐसा बयान, जीत लेगा भारतीयों का दिल
3 रवि शास्त्री को नहीं इन्हें बेस्ट कोच मानते हैं ईशांत शर्मा, गेंद पर लार का प्रयोग करने पर भी दिया बयान
IPL 2020 LIVE
X