ताज़ा खबर
 

नाइट आउट पर गया क्रिकेटर अगली सुबह नहीं लौटा, लगा एक साल का बैन

जेफ्री वेंडरसे पहली बार विवादों में नहीं आए हैं। पिछले साल भारत का दौरा करने से पहले कई घरेलू मैचों में वह नहीं खेले थे जिसके लिए उन्‍हें चेतावनी जारी की गई थी।

अपनी पत्‍नी के साथ श्रीलंकाई क्रिकेटर जेफ्री वेंडरसे (Photo : Twitter/Vandersay)

श्रीलंकाई लेग स्पिनर जेफ्री वेंडरसे को एक साल के लिए निलंबित कर दिया गया है और उनपर वार्षिक अनुबंध का 20 फीसदी जुर्माना लगा है। कोड ऑफ कंडक्‍ट का उल्‍लंघन करने पर श्रीलंका क्रिकेट ने क्रिकेटर पर यह कार्रवाई की। वेंडरसे को वेस्‍टइंडीज दौरे पर बारबडोस में होने वाले तीसरे टेस्‍ट मैच से पहले घर भेज दिया गया है। सेंट लूसिया में ‘नाइट आउट’ के बाद श्रीलंका क्रिकेट ने वेंडरसे पर अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दूसरे टेस्‍ट के ड्रॉ होने के बाद वेंडरसे व तीन अन्‍य खिलाड़ी सेंट लूसिया के एक नाइट क्‍लब गए थे। अगली सुबह 28 वर्षीय क्रिकेटर अपने कमरे में नहीं मिला तो टीम मैनेजमेंट ने पुलिस से शिकायत की। कुछ घंटों बाद होटल पहुंचे वेंडरसे ने टीम प्रबंधन को बताया कि बाकी खिलाड़ी उसे नाइट क्‍लब में अकेला छोड़कर होटल लौट आए और वह रास्‍ता भटक गया।

वेंडरसे का कैरेबियन दौरा 23 जून को ही खत्‍म हो गया था मगर उसकी सजा तब तक टाली गई जब तक एक जांच कमेटी ने टूर पर टीम मैनेजर, असंका गुरुसिंहा की रिपोर्ट नहीं पढ़ ली। वेंडरसे को इसके चलते दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी सीरीज के लिए भी टीम में नहीं रखा गया।

वेंडरसे के घटना पर खेद व्‍यक्त करने के बाद निलंबन और जुर्माना लगाया गया। श्रीलंका क्रिकेट ने खिलाड़ी को बता दिया है कि सजा के दौरान अगर वह कॉन्‍ट्रैक्‍ट के किसी भी नियम का उल्‍लंघन करता है तो बेहद कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वेंडरसे पहली बार विवादों में नहीं आए हैं। पिछले साल भारत का दौरा करने से पहले कई घरेलू मैचों में वह नहीं खेले थे जिसके लिए उन्‍हें चेतावनी जारी की गई थी।

श्रीलंकाई क्रिकेटरों का बर्ताव पिछले कुछ महीनों में ठीक नहीं रहा है। 16 जुलाई को अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चंडीमल, कोच चंडिका हथारुसिंघा और मैनेजर असंका गुरुसिंहा पर चार वनडे और दो टेस्ट मैचों का प्रतिबंध लगाया था। पिछले महीने वेस्टइंडीज दौरे पर सेंट लूसिया टेस्ट में चंडीमल पर गेंद से छेड़छाड़ का आरोप लगा था जिसके विरोध में श्रीलंकाई टीम मैच के तीसरे दिन मैदान पर दो घंटे की देरी से उतरी थी। इसी कारण इन तीनों पर यह प्रतिबंध लगाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App