ताज़ा खबर
 

कोहली-शास्‍त्री के लिए सिरदर्द बनी ओपनिंग जोड़ी, आजमाए जा सकते हैं ये 4 विकल्‍प

शिखर धवन, मुरली विजय और केएल राहुल टीम को एक अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे। विदेशी जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने के लिए शुरुआती बल्लेबाजों का रन बनाना बहुत जरूरी होता है। इंग्लैड के बाद भारत को अपने घर में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलना है।

रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ।

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान भारतीय टीम के लिए ओपनिंग जोड़ी सबसे बड़ी सिरदर्द साबित हुई। पूरे सीरीज के दौरान सलामी बल्लेबाज अपने फॉर्म से जूझते नजर आए। शिखर धवन, मुरली विजय और केएल राहुल टीम को एक अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे। विदेशी जमीन पर टेस्ट सीरीज जीतने के लिए शुरुआती बल्लेबाजों का रन बनाना बहुत जरूरी होता है। इंग्लैड के बाद भारत को अपने घर में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलना है। वहीं इस साल के अंत में टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी जाएगी। इंग्लैंड में शर्मनाक हार के बाद ऑस्ट्रेलिया में भारतीय ओपनिंग जोड़ी में कुछ बदलाव किए जा सकते हैं। आइए एक नजर डालते हैं उन खिलाड़ियों पर जिन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में शामिल किया जा सकता है।

मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ।

रोहित शर्मा – भारतीय टीम के वनडे और टी-20 ओपनर रोहित शर्मा टेस्ट में भी ओपनिंग करते नजर आ सकते हैं। रोहित ने 85 फर्स्ट क्लास मैचों में 54.71 की औसत से 6456 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 20 शतक भी लगाए। रोहित शर्मा वनडे में भारत की ओर से खेलते हुए तीन दोहरा शतक जड़ चुके हैं।

संजय रामास्वामी– 23 साल के युवा क्रिकेटर संजय रामास्वामी पहली बार रणजी ट्रॉफी विदर्भ टीम को दिलाने में रामास्वामी का अहम रोल रहा है। रणजी ट्रॉफी के 9 मैचों के 14 पारियों में रामास्वामी ने 775 रन बनाए। इस दौरान उनकी बल्लेबाजी औसत 64.58 का रहा।

पृथ्वी शॉ– भारतीय युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम के दो टेस्ट मैच में टीम में शामिल किया गया। पृथ्वी टीम में जरूर आए, लेकिन वो प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन पाए। पृथ्वी का फर्स्ट क्लास करियर शानदार रहा है। उन्होंने 13 मैचों में 60.78 की औसत से टीम के लिए कुल 1398 रन बनाए हैं।

मयंक अग्रवाल – पिछले साल रणजी में अपनी बल्लेबाजी से सभी को हैरान करने वाले मयंक को भी बतौर ओपनर आजमाया जा सकता है। पिछले रणजी के 13 पारियों में मयंक ने 105.45 के शानदार औसत से 1160 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से पांच शतक भी निकले और उनका सर्वाधिक स्कोर 304 रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App