ताज़ा खबर
 

कानपुर टेस्ट: कोच मैकमिलन ने विलियमसन-लाथम साझेदारी में स्ट्राइक रोटेट करने को बताया ज़रूरी

भारत सुबह के सत्र में केवल एक विकेट हासिल कर पाया जबकि दूसरे सत्र में 26 ओवरों में उसे कोई विकेट नहीं मिला।

Author कानपुर | September 23, 2016 20:44 pm
कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में पहले टेस्ट मैच के दूसरे अर्द्धशतक बनाने के बाद साथी खिलाड़ी टाम लाथम को बधाई देते केन विलियमसन। (PTI Photo by Atul Yadav/23 Sep, 2016)

न्यूजीलैंड के बल्लेबाजी कोच क्रेग मैकमिलन ने शुक्रवार (23 सितंबर) को यहां कहा कि भारत के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में केन विलियमसन और टाम लाथम के बीच 117 रन की अटूट साझेदारी का महत्वपूर्ण पक्ष इन दोनों का लगातार स्ट्राइक रोटेट करना रहा। भारत सुबह के सत्र में केवल एक विकेट हासिल कर पाया जबकि दूसरे सत्र में 26 ओवरों में उसे कोई विकेट नहीं मिला। मैकमिलन ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘उनका (विलियमसन-लाथम) का अनुशासन महत्वपूर्ण रहा। वे अपनी रणनीति पर अडिग रहे। बायें और दायें हाथ के बल्लेबाज का संयोजन होने पर उन्होंने जिस तरह से स्ट्राइक रोटेट की वह इस साझेदारी का महत्वपूर्ण पक्ष रहा है।’

उन्होंने कहा, ‘उन्होंने कड़ी मेहनत की। पिच अब भी अच्छी है लेकिन कुछ गेंदें टर्न ले रही है। कुल मिलाकर इन दोनों खिलाड़ियों का पूरी साझेदारी के दौरान अनुशासित बने रहना महत्वपूर्ण है।’ इस पूर्व ऑलराउंडर ने कहा कि कीवी बल्लेबाजों ने स्पिन से निबटने के लिए काफी कड़ा अभ्यास किया था। उन्होंने कहा, ‘पांवों और क्रीज का अच्छी तरह से इस्तेमाल करने का हमने कड़ा अभ्यास किया था। स्पिन को अच्छी तरह से खेलने के लिए ये महत्वपूर्ण पहलू होते हैं। आप स्पिन खेलने वाले दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों को देखो वे क्रीज पर एक जगह पर नहीं रहते। वे या तो फॉरवर्ड या बैकफुट पर जाकर खेलते हैं। हमारे सभी खिलाड़ियों ने इस पर कड़ी मेहनत की है और प्रत्येक अपने अंदाज में खेलता है।’

मैकमिलन ने कहा, ‘हर किसी की तकनीक भिन्न होती है और महत्वपूर्ण यह है कि आप एक ही तरह खेलने से बचो। आपको वह करना होगा जो आपके अनुकूल हो और हमने वास्तव में ऐसा अच्छी तरह से किया। दोनों बल्लेबाजों ने आज क्रीज का अच्छी तरह से इस्तेमाल किया। गेंद की लेंथ को समझना महत्वपूर्ण है और फिर आप तय कर सकते हैं आपको आगे बढ़कर खेलना है या बैकफुट पर जाना है।’ कीवी बल्लेबाजी कोच ने कहा कि दूसरा दिन उनके लिये जिस तरह से गुजरा वे उससे खुश हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि दूसरे सत्र में भारतीयों की जरूरत से ज्यादा अपील से वे प्रभावित नहीं हुए और दोनों खिलाड़ियों ने धैर्य की अच्छी मिसाल पेश की। मैकमिलन ने कहा, ‘यह भारत में खेलने का हिस्सा है। हम दो बहुत अच्छे स्पिनरों का सामना कर रहे हैं जो परिस्थितियों को अच्छी तरह से समझते हैं और आपके लिए चुनौती पेश करते है। एकाग्रता बनाए रखना महत्वपूर्ण है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App