ताज़ा खबर
 

कानपुर टेस्ट: टीशर्ट-लड्डू का लालच भी नहीं लुभा पाया दर्शकों को

ग्रीन पार्क की क्षमता 26 हजार दर्शकों की है और जब कोहली पर क्रीज पर उतरे तब लगभग स्टेडियम का 30 प्रतिशत हिस्सा भरा था।

Author कानपुर | September 22, 2016 8:33 PM
कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के पहले दिन भारतीय कप्तान विराट कोहली को आउट करने के बाद एक-दूसरे को बधाई देते न्यूजीलैंड के खिलाड़ी। (REUTERS/Danish Siddiqui/22 Sep, 216)

भारत का 500वां टेस्ट मैच, सचिन तेंदुलकर सहित कई पूर्व कप्तानों की उपस्थिति और दो मजबूत टीमों के बीच की संभावित रोमांचक जंग के साथ आयोजकों का मुफ्ट टी शर्ट और लड्डू देने का लालच भी क्रिकेट प्रेमियों को भारत और न्यूजीलैंड के बीच यहां खेले जा रहे पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के शुरुआती दिन ग्रीन पार्क स्टेडियम में नहीं खींच पाया। भारत और न्यूजीलैंड की टीमें सुबह साढ़े आठ बजे स्टेडियम में पहुंच गई थी लेकिन तब चंद दर्शक ही उनका अभिवादन करने के लिए स्टेडियम में मौजूद थे। भारत के टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के फैसले से दर्शकों की संख्या में कुछ इजाफा हुआ लेकिन तेज धूप और भारतीय कप्तान विराट कोहली के जल्दी आउट होने से वह भी नदारद हो गए।

ग्रीन पार्क की क्षमता 26 हजार दर्शकों की है और जब कोहली पर क्रीज पर उतरे तब लगभग स्टेडियम का 30 प्रतिशत हिस्सा भरा था। भारतीय टेस्ट कप्तान के प्रति दर्शकों ने विशेष लगाव दिखाया। चेतेश्वर पुजारा के आउट होने के बाद दर्शक मायूस नहीं हुए क्योंकि कोहली ने क्रीज पर कदम रखा लेकिन वह जल्दी आउट हो गए। इसके बाद दर्शक भी स्टेडियम से कूच करने लगे। जो दर्शक मौजूद थे उनमें स्कूली बच्चे अधिक थे जिन्हें मुफ्त में प्रवेश दिया गया था। उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ (यूपीसीए) का मुफ्त में लड्डू और 500वें टेस्ट मैच की यादगार टीशर्ट देने का लालच भी क्रिकेट प्रेमियों को स्टेडियम में नहीं खींच पाया। पुलिस प्रशासन ने भी टिकट और पास की जांच करने में थोड़ी ढील बरती। एक टिकट पर पूरे परिवार को प्रवेश करते हुए भी देखा गया।

HOT DEALS
  • Honor 9I 64GB Blue
    ₹ 14784 MRP ₹ 19990 -26%
    ₹2000 Cashback
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41999 MRP ₹ 52370 -20%
    ₹6000 Cashback

सुरक्षा कड़ी थी और इसलिए पुलिसकर्मी अधिक दिखायी दिए। ग्रीन पार्क की वीआईपी रोड हमेशा रात से ही पुलिस द्वारा बैरिकेडिंग लगाकर बंद कर दी जाती है लेकिन मैच के पहले और मैच के दौरान यह सामान्य दिनों की तरह वाहनो के लिए खुली रही। स्टेडियम के बाहर का माहौल बेहद शांत दिख रहा था। सीमित ओवरों के किसी मैच में ग्रीन पार्क के सभी 12 गेट पर न दर्शकों की लंबी कतारें दिखती हैं लेकिन आज ऐसा नहीं दिखा और क्रिकेट प्रेमियों को संभालने के लिए पुलिस को डंडे की जरूरत भी नहीं पड़ी। क्रिकेट मैच के लिए फ्री पास के जुगाड़ में रहने वाले क्रिकेट प्रेमी भी नदारद थे।

यूपीसीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ललित खन्ना ने सुबह उम्मीद जतायी थी कि खेल आगे बढ़ने के साथ दर्शकों की संख्या में बढ़ोतरी होगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जिन स्कूली छात्र छात्राओं को यूपीसीए ने लड्डू और टीशर्ट दिए वे भी लंच के बाद स्टेडियम से जाने लगे थे। ग्रीन पार्क के बाहर झंडे और टीशर्ट बेचने वाले वेंडर भी दर्शकों में उत्साह की कमी के कारण बिक्री न होने से निराश दिखे। ऐसे ही एक वेंडर अमित ने बताया कि वह सुबह चार बजे से स्टेडियम के बाहर खड़े हैं अभी तक दो टीशर्ट ही बिकी हैं। यहां तक कि भारत के झंडे और कलाई के बैंड लेने वाले भी बस कुछ ही दर्शक हैं। वह कहते है कि सबसे ज्यादा इन सामानों को लेने के लिए उत्साह स्कूली छात्रों और बच्चों में होता था लेकिन स्कूल कॉलेज खुले होने के कारण छात्रों और बच्चों की संख्या न के बराबर रही।

ग्रीन पार्क के गेट नंबर 8 पर खड़े एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अधिकारियों का आदेश है कि स्टेडियम में आने वाले दर्शकों के साथ ज्यादा सख्ती न बरती जाए। बस उन्हें सुरक्षा जांच के बाद स्टेडियम के अंदर आने दिया जाए। इसलिए वह भी टिकटों की अधिक जांच नहीं कर रहे है, बस सुरक्षा जांच के बाद लोगो को अंदर जाने दे रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App