ताज़ा खबर
 

क्रिकेट करियर में अपनी असफलता के लिए ग्रेग चैपल नहीं बल्कि इस वजह को दोषी मानते हैं इरफान पठान

इरफान पठान ने बताया, 'जब मैं टीम से बाहर हुआ था, उस वक्त दुर्भाग्य से मैं चोटिल था। चोट के बाद कमबैक करना बहुत मुश्किल होता है। मैं किसी को इसके लिए दोषी नहीं मानता।'

Author बेंगलूरु | July 18, 2017 18:31 pm
भारतीय टीम के पूर्व कोच ग्रेग चैपल पर यह आरोप लगता रहा है कि उन्होंने इरफान पठान को आलराउंडर बनाने के चक्कर में उनका क्रिकेट करियर बर्बाद कर दिया।(Photo: BCCI Archive)

कभी टीम इंडिया के स्टार आॅलराउंडर रहे इरफान पठान को आखिरकार आईपीएल में खेलने का मौका मिल ही गया। गुजरात लायंस ने पठान को चेाटिल ड्वेन ब्रावो के रिप्लेसमेंट के तौर पर अपनी टीम में शामिल किया है। एक समय भारत के सबसे चहते क्रिकेटर रहे इरफान पठान को इस बार आईपीएल नीलामी में कोई खरीददार नहीं मिला था। एक इंटरव्यू में अपने करियर के बारे में बात करते हुए इरफान पठान ने टीम इंडिया के पूर्व कोच ग्रेग चैपल को अपने पराभव के लिए दोषी ठहराने को गलत बताया। इरफान पठान ने इंजरी और तकनीकी बदलावों को अपने करियर का दुश्मन बताया। उन्होंने कहा, ‘मेरी असफलता के पीछे ग्रेग चैपल का कोई हाथ नहीं है। मैं ऐसे बहुत से लोगों को जानता हूं जो कहते हैं कि ग्रेग चैपल ने मेरा करियर चौपट कर दिया। यह सही नहीं है। कोई किसी का करियर नहीं खराब कर सकता। जो कुछ भी करना होता है आपको ही करना होता है। आप अपनी असफलता के लिए खुद जिम्मदार होते हैं ना की कोई और।’

इरफान पठान ने बताया, ‘जब मैं टीम से बाहर हुआ था, उस वक्त दुर्भाग्य से मैं चोटिल था। चोट के बाद कमबैक करना बहुत मुश्किल होता है। मैं किसी को इसके लिए दोषी नहीं मानता।’ आईपीएल में खेलने का मौका मिलने पर पठान ने कहा, ‘यहां होना काफी सुखद है। लेकिन, टीम के अंतिम एकादश में शामिल ना होना थोड़ा निराशजनक है। मुझे आशा है कि खेलने का मौका मिलेगा और मैं अच्छा प्रदर्शन करुंगा।’ गौरतलब है कि इरफान पठान अपने करियर के शुरुआती सालों में बहुत सम्मान हासिल कर चुके थे। पाकिस्तान के महान तेज गेंदबाज वसीम अकरम भी उनकी स्विंग गेंदबाजी के कायल हो गए थे। इरफान पठान निचले क्रम में भारत के लिए उपयोगी बल्लेबाज भी साबित हो रहे थे। उनकी तुलना कपिल देव से की जाने लगी थी। लेकिन, इरफान पठान अपनी फिटनेस के कारण टीम इंडिया में स्थान गवां बैठे और उसके बाद उनकी वापसी नहीं हो सकी।

कपिल देव से अपनी तुलना के बारे में पूछे जाने पर इरफान पठान ने कहा, ‘जहां तक आॅलराउंडर्स की बात है, कपिल देव दूसरे लीग के क्रिकेटर थे। उनके साथ मेरी तुलना उचित नहीं थी। मुझे नहीं लगता उनका स्थान कोई दूसरा खिलाड़ी ले सकता है। लोगों ने उनके साथ मेरी तुलना की। इसका मेरे उपर कोई असर नहीं पड़ा। लेकिन, एक युवा खिलाड़ी होने के नाते आपको किसी महान खिलाड़ी के साथ तुलना अच्छी लगती है। इससे बेहतर प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिलती है।’ इरफान पठान ने बताया कि पीठ में कुछ परेशानी होने की वजह से उन्हें अपनी गेंदबाजी एक्शन में बदलाव करना पड़ा था। उन्होंने बताया कि अब वो अपने पुराने अंदाज में ही गेंदबाजी करने लगे हैं और गेंदबाजी के दौरान मिल रही स्विंग से काफी संतुष्ट हैं।

Video: IPL इतिहास के 5 सबसे सफल कप्तान; ये भारतीय खिलाड़ी है सबसे ऊपर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App